Results 1 to 12 of 12

Thread: Kya hai Bharat ki sabse badi samasya?

  1. #1

    Question Kya hai Bharat ki sabse badi samasya?

    आजादी के 62 सालों में भारत की तस्*वीर यकीनन बदली है। भारत ने तमाम क्षेत्र में जबर्दस्त तरक्की की है और विश्व के मानचित्र पर अपनी छवि बेहतर बनाई है। विज्ञान का क्षेत्र हो, व्यापार का, खेल का या फिर कोई और, देश ने सभी क्षेत्रों में झंडे गाड़े हैं। इसके बावजूद आम भारतीय गरीबी, बदहाली, परेशानी की जिंदगी जी रहा है। सुकून की तलाश में उसे भटकना पड़ रहा है।

    भ्रष्टाचार हमारे सिस्टम में गहराई तक घुस गया है। कहीं भी, कोई भी काम ईमानदारी से हो जाए तो हैरानी होती है।सिस्*टम में चुस्*ती का भी सर्वथा अभाव है। एक तो लालफीताशाही और उस पर लेटलतीफी। सिस्*टम 62 साल के किसी बुजुर्ग की तरह सुस्*ती, लेटलतीफी से काम कर रहा है।

    लोगों का भी हाल ऐसा लगता है कि जो है, जैसा है की स्थिति को उन्*होंने स्*वीकार कर लिया है। लोग वोट डालने तक की जहमत नहीं उठाते। सिस्*टम से उनका विश्*वास हिला है, तो वे खुद को सिस्*टम से अलग कर चलने की कोशिश करने लगते हैं। मैं क्या करूं? मेरी कौन सुनेगा? जैसे सवालों की आड़ में वे चुप्*पी लगा जाते हैं। जबकि ऐसे कई उदाहरण हैं कि जनता जागी है तो सिस्*टम बदला है। तो फिर क्*या इस देश में सबसे बड़ी समस्*या जनता की सुस्*ती ही है? या फिर भ्रष्*टाचार सारी बीमारियों की जड़ है? या लेटलतीफी ने सारा खेल खराब कर रखा है? आखिर क्*या है भारत की सबसे बड़ी समस्*या?
    Thanks & Regards,

    Anil Jakhar
    jakhar.anilk@gmail.com
    +91 93143 91300
    Birodi badi \ Nawal garh, Fatehpur Shekhawati, Rajasthan, India


  2. #2
    Everyone knows its 'population' ! If we had a population of 20 crores imagine what this country would have been babey !
    Greatness lives on the edge of destruction

  3. #3
    bharat ki sabse badi samasyaa he bharastaachaar aur laalfitaashahi jo ek doosre ke purak hein ,vikaas to ho rhaa he par atayant dhimi gati se .adhikatar project jo ki 2 yaa 3 saal me purey ho saktey hein 10-15 saal tak kheenche chale jaatey hein.ismey bharat ki kuchh visesh jaatiyon kaa vishesh yogdaan he.
    :rockwhen you found a key to success,some ideot change the lock,*******BREAK THE DOOR.
    हक़ मांगने से नहीं मिलता , छिना जाता हे |
    अहिंसा कमजोरों का हथियार हे |
    पगड़ी संभाल जट्टा |
    मौत नु आंगालियाँ पे नचांदे , ते आपां जाट कुहांदे |

  4. #4
    Quote Originally Posted by jakharanil View Post
    खेल का या फिर कोई और, देश ने सभी क्षेत्रों में झंडे गाड़े हैं।
    Bhai, baki sab to theek hai par khel mei kaun se jhande gaad diye?? Hame to yaad nahi hai ki hamare ab tak ke time mei India ne koi Gold medal jeet liye ho olympics mei....[/QUOTE]

    Quote Originally Posted by jakharanil View Post
    तो फिर क्*या इस देश में सबसे बड़ी समस्*या जनता की सुस्*ती ही है? या फिर भ्रष्*टाचार सारी बीमारियों की जड़ है? या लेटलतीफी ने सारा खेल खराब कर रखा है? आखिर क्*या है भारत की सबसे बड़ी समस्*या?
    DANDA. Kisi bhi desh ko safal banane mei danda paryog bahut jaroori hai. Dande ka paryog bina kisi bhedbhav, ameeri gareebi, jaati etc ke bina hona bahut jaroori hai. Bhartiya jab videshon mei jaate hai (including myself) to wahan ke kanoon ka puri tarah se palan karte hai, sirf isliye kyunki unhe pata hai ki videsh mei danda bahut jor ka padta hai. Agar koi drink karke gaadi chalata pakda jaye to bahar ki police uski halat kharab kar deti hai, chahe woh koi bhi, bhale hi woh bahut bada celebrity hi kyun na ho, yahan ki police kisi ko nahi chodti. Iske vipreet bhartiya police 5 or 10 rupay le kar bhi logon ko chod deti hai, agar kisi ke papa ya koi door ke chacha ya maama, police mei ya kahin or koi bade officer ho to bhi woh kuch bhi kar sakate hai.... jab kanoon ke rakshak hi bhakshak ban jaye to desh ki lutiya apne aap hi doob jaati hai.

  5. #5
    क्या है भारत की सबसे बड़ी समस्या ?

    That's a billion dollar question.:D Ek samsya ho to ginawai bhi..saari samasya badi hain.Very hard to answer this one.
    Last edited by vicky84; August 2nd, 2010 at 08:58 AM.

  6. #6
    कई समस्या बता दी उपर लोगा ने,,,,,,, स कोए इलाज तेरे धोरे ? पहलाम इनका समाधान बता सब ने ,..... फेर आगे बात करेंगे


    Quote Originally Posted by jakharanil View Post
    आजादी के 62 सालों में भारत की तस्*वीर यकीनन बदली है। भारत ने तमाम क्षेत्र में जबर्दस्त तरक्की की है और विश्व के मानचित्र पर अपनी छवि बेहतर बनाई है। विज्ञान का क्षेत्र हो, व्यापार का, खेल का या फिर कोई और, देश ने सभी क्षेत्रों में झंडे गाड़े हैं। इसके बावजूद आम भारतीय गरीबी, बदहाली, परेशानी की जिंदगी जी रहा है। सुकून की तलाश में उसे भटकना पड़ रहा है।

    भ्रष्टाचार हमारे सिस्टम में गहराई तक घुस गया है। कहीं भी, कोई भी काम ईमानदारी से हो जाए तो हैरानी होती है।सिस्*टम में चुस्*ती का भी सर्वथा अभाव है। एक तो लालफीताशाही और उस पर लेटलतीफी। सिस्*टम 62 साल के किसी बुजुर्ग की तरह सुस्*ती, लेटलतीफी से काम कर रहा है।

    लोगों का भी हाल ऐसा लगता है कि जो है, जैसा है की स्थिति को उन्*होंने स्*वीकार कर लिया है। लोग वोट डालने तक की जहमत नहीं उठाते। सिस्*टम से उनका विश्*वास हिला है, तो वे खुद को सिस्*टम से अलग कर चलने की कोशिश करने लगते हैं। मैं क्या करूं? मेरी कौन सुनेगा? जैसे सवालों की आड़ में वे चुप्*पी लगा जाते हैं। जबकि ऐसे कई उदाहरण हैं कि जनता जागी है तो सिस्*टम बदला है। तो फिर क्*या इस देश में सबसे बड़ी समस्*या जनता की सुस्*ती ही है? या फिर भ्रष्*टाचार सारी बीमारियों की जड़ है? या लेटलतीफी ने सारा खेल खराब कर रखा है? आखिर क्*या है भारत की सबसे बड़ी समस्*या?
    जेळी आळा जाट,

  7. #7
    Quote Originally Posted by anilsangwan View Post
    कई समस्या बता दी उपर लोगा ने,,,,,,, स कोए इलाज तेरे धोरे ? पहलाम इनका समाधान बता सब ने ,..... फेर आगे बात करेंगे

    Anil he is just try to know the problems not proposing for any solution. ar bhai kime samadhan le ra ho to aur bhi ginva dange.

  8. #8
    भाई जो आदमी अनाज खावे स ... उस ने बेरा स प्रोब्लेम्स का ...... समाधान के बिना प्रॉब्लम की धोक मारते रहो..... क आणि जानी स....



    Quote Originally Posted by sanjaymalik View Post
    Anil he is just try to know the problems not proposing for any solution. ar bhai kime samadhan le ra ho to aur bhi ginva dange.
    जेळी आळा जाट,

  9. #9
    Bhai Jakhar has raised a very good question. Friends, we must know the problem first than only we can think of solution &try to solve the problem. one raises a question when in doubt or donot know the answer/solution, also it is not expected from a person who raised the question, that he knows the answer also. ok coming back to the toppic, I persnally feel that we have done lot of physical development in many fields but we have totally neglected the real development- the development of the soul, hence the vehicle of desire is running at the top of speed without the driver/control & the vehicle of satisfaction which carries a person to happiness, has gone off road into a big, dark & deep nallah. That is why all other problems have comeup. The answer which I can think of, is the spiritual education/knowledge. regards

  10. #10
    .

    Bharat ki sabse badi samsya hein yahan ke pade likhe ganwar log. Yeah, the educated ignorant irresponsible people lack civic sense. Countries in general are all good but its their citizens who make them good or bad!






    .. " Until Lions have their historians, tales of the hunt shall always glorify the hunter! " ..



  11. The Following Likes this post:

    sanjeev1984 (September 29th, 2012)

  12. #11
    [QUOTE=cooljat;250800][B][COLOR=RoyalBlue].

    Bharat ki sabse badi samsya hein yahan ke pade likhe ganwar log. Yeah, the educated ignorant irresponsible people lack civic sense. Countries in general are all good but its their citizens who make them good or bad!


    aasli aur sidhaa jawaab
    :rockwhen you found a key to success,some ideot change the lock,*******BREAK THE DOOR.
    हक़ मांगने से नहीं मिलता , छिना जाता हे |
    अहिंसा कमजोरों का हथियार हे |
    पगड़ी संभाल जट्टा |
    मौत नु आंगालियाँ पे नचांदे , ते आपां जाट कुहांदे |

  13. #12
    Bharat ki sabse badi problem hai : Corrupt leadership

Posting Permissions

  • You may not post new threads
  • You may not post replies
  • You may not post attachments
  • You may not edit your posts
  •