Results 1 to 5 of 5

Thread: काका रो शौचालय अर वसुंधरा

  1. #1

    काका रो शौचालय अर वसुंधरा

    बाड़मेर रे दौरे माथे राज्य रा मुख्य मंत्री जी वसुंधरा राजे घुमवा आया।
    लारला दिना मोदीजी रो घर घर शौचालय बनावणो अभियान (स्वच्छ भारत) चाल्यो,
    घर घर शौचालय बणा दो दिया पण उपयोग दूजो ही होवे हैं (इंयां भी गांव आला तो लोटा वास्ते खेत री बाड़ रो ओटो लेवे हैं),
    भाखरो काको बकरिया बाँध्या करे, रामु काका अर धापुड़ी री काकी चारो भरने राखियोडो हो,
    बरसात रे टाइम रे मायने शौचालय रो घणो री चौखो उपयोग उपयोग तो वगते काके लीनो हो बाजरी और मौठ मुंग री बोरियाँ सूं शौचालय फुल कर दिनों हो,
    अबे गांव रे सरपंचो रो हेलो आयो के वसुंधरा आवे हैं अर सब घरां में शौचालय रो जायजो लेवेला तो गांव रा छोरा दौड़या घर घर खबर करवा,
    दो चार छोरा वगते काके रे घरे गया अर बोल्या काका जल्दी से शौचालय ने खाली करो वसुंधरा आवे हैं ,
    अब वगतो काके छोरा कने सूं सरपंचो ने फोन लगायो बोल्यो थांकी वसुंधरा ने तरड़्यों(दस्त) होयोड़ो हैं जो घरां घरां फिर ने शौचालिया खाली कराओं हो।
    जय भारत

  2. The Following User Says Thank You to SALURAM For This Useful Post:

    lrburdak (October 2nd, 2017)

  3. #2
    Quote Originally Posted by SALURAM View Post
    बाड़मेर रे दौरे माथे राज्य रा मुख्य मंत्री जी वसुंधरा राजे घुमवा आया।
    लारला दिना मोदीजी रो घर घर शौचालय बनावणो अभियान (स्वच्छ भारत) चाल्यो,
    घर घर शौचालय बणा दो दिया पण उपयोग दूजो ही होवे हैं (इंयां भी गांव आला तो लोटा वास्ते खेत री बाड़ रो ओटो लेवे हैं),
    भाखरो काको बकरिया बाँध्या करे, रामु काका अर धापुड़ी री काकी चारो भरने राखियोडो हो,
    बरसात रे टाइम रे मायने शौचालय रो घणो री चौखो उपयोग उपयोग तो वगते काके लीनो हो बाजरी और मौठ मुंग री बोरियाँ सूं शौचालय फुल कर दिनों हो,
    अबे गांव रे सरपंचो रो हेलो आयो के वसुंधरा आवे हैं अर सब घरां में शौचालय रो जायजो लेवेला तो गांव रा छोरा दौड़या घर घर खबर करवा,
    दो चार छोरा वगते काके रे घरे गया अर बोल्या काका जल्दी से शौचालय ने खाली करो वसुंधरा आवे हैं ,
    अब वगतो काके छोरा कने सूं सरपंचो ने फोन लगायो बोल्यो थांकी वसुंधरा ने तरड़्यों(दस्त) होयोड़ो हैं जो घरां घरां फिर ने शौचालिया खाली कराओं हो।

    वाह! सालूराम भाई, राजस्थानी पढ़कर मजा आ गया। मुझे तो राजस्थानी भाषा समझने में कोई दिक्कत नहीं हुई।

    गांव वालों से कह दो कि वसुन्धरा के लिए एकाध शौचालय बनाकर तैयार रखें। पता नहीं उसे कब दस्त लग जायें और तब शौचालय खाली ना कराना पड़े!

    .
    तमसो मा ज्योतिर्गमय

  4. The Following User Says Thank You to dndeswal For This Useful Post:

    SALURAM (October 1st, 2017)

  5. #3
    Quote Originally Posted by dndeswal View Post
    वाह! सालूराम भाई, राजस्थानी पढ़कर मजा आ गया। मुझे तो राजस्थानी भाषा समझने में कोई दिक्कत नहीं हुई।

    गांव वालों से कह दो कि वसुन्धरा के लिए एकाध शौचालय बनाकर तैयार रखें। पता नहीं उसे कब दस्त लग जायें और तब शौचालय खाली ना कराना पड़े!

    .
    साहब गांव आळा ने फ़ोन कर ने खबर कर दी सा।
    जय भारत

  6. #4
    Wiki Moderator
    Points: 48,597, Level: 97
    Level completed: 5%, Points required for next Level: 953
    Overall activity: 90.0%
    Achievements:
    Social Referral First Class Veteran Created Album pictures 25000 Experience Points
    Awards:
    Overall Award
    Login to view details.
    वाह साल्लू राम जी मजा आ गया। यह बात सच है कि गाँव वाले हर चीज का उपयोग अपने ढंग से करते हैं। सौचालय तो पक्का होता है उसका उपयोग तो जायज लग रहा है जैसी आवश्यकता हो करते हैं। कूलर का उपयोग भी छोटे बकरियों को पालने में करते हैं या बिल्ली से बचाकर दूध रखते हैं । वॉशिंग मशीन में जेली, चाटू, झाड़ू आदि खड़े रखने में करते हैं। यही जुगाड़ है।
    Laxman Burdak

  7. The Following 2 Users Say Thank You to lrburdak For This Useful Post:

    neel6318 (October 2nd, 2017), SALURAM (October 2nd, 2017)

  8. #5
    Quote Originally Posted by SALURAM View Post
    बाड़मेर रे दौरे माथे राज्य रा मुख्य मंत्री जी वसुंधरा राजे घुमवा आया।
    लारला दिना मोदीजी रो घर घर शौचालय बनावणो अभियान (स्वच्छ भारत) चाल्यो,
    घर घर शौचालय बणा दो दिया पण उपयोग दूजो ही होवे हैं (इंयां भी गांव आला तो लोटा वास्ते खेत री बाड़ रो ओटो लेवे हैं),
    भाखरो काको बकरिया बाँध्या करे, रामु काका अर धापुड़ी री काकी चारो भरने राखियोडो हो,
    बरसात रे टाइम रे मायने शौचालय रो घणो री चौखो उपयोग उपयोग तो वगते काके लीनो हो बाजरी और मौठ मुंग री बोरियाँ सूं शौचालय फुल कर दिनों हो,
    अबे गांव रे सरपंचो रो हेलो आयो के वसुंधरा आवे हैं अर सब घरां में शौचालय रो जायजो लेवेला तो गांव रा छोरा दौड़या घर घर खबर करवा,
    दो चार छोरा वगते काके रे घरे गया अर बोल्या काका जल्दी से शौचालय ने खाली करो वसुंधरा आवे हैं ,
    अब वगतो काके छोरा कने सूं सरपंचो ने फोन लगायो बोल्यो थांकी वसुंधरा ने तरड़्यों(दस्त) होयोड़ो हैं जो घरां घरां फिर ने शौचालिया खाली कराओं हो।
    funny!

    Quote Originally Posted by dndeswal View Post
    वाह! सालूराम भाई, राजस्थानी पढ़कर मजा आ गया। मुझे तो राजस्थानी भाषा समझने में कोई दिक्कत नहीं हुई।

    गांव वालों से कह दो कि वसुन्धरा के लिए एकाध शौचालय बनाकर तैयार रखें। पता नहीं उसे कब दस्त लग जायें और तब शौचालय खाली ना कराना पड़े!

    .
    Sir, ye mantri log kya special hain hum logon se, Vansundhra bhi लोटा le खेत री बाड़ रो ओटो le लेवेgo ......hehehehe........nahi to hum DSP sun shikayat kar dya gaan. chalyo re!

  9. The Following User Says Thank You to neel6318 For This Useful Post:

    SALURAM (October 2nd, 2017)

Posting Permissions

  • You may not post new threads
  • You may not post replies
  • You may not post attachments
  • You may not edit your posts
  •