Anita

From Jatland Wiki
Jump to: navigation, search
Anita Sheoran
Anita

Anita Sheoran (अनीता श्योराण) is from village Dhani Mahu (ढाणी महू) in tehsil Tosham of Bhiwani district, Haryana. She won Gold Medal in Common Wealth Games 2010 at Delhi in wrestling 67 Kg.

अनीता का परिचय

जिला भिवानी के गांव ढाणीमाहू में जन्मी अनीता ने 67 किलोग्राम भार वर्ग कुश्ती में कनाड़ा की पहलवान मेगान बायूडेन्स को चित कर भारत के लिए स्वर्ण पदक जीता। ढाणीमाहू की इस प्रतिभावान पहलवान ने हरियाणा के गौरवशाली इतिहास में एक और अध्याय जोड़ दिया। अनीता का जन्म 24 नवम्बर 1984 को गांव ढाणीमाहू के किसान दलीप सिंह के घर, माता संतोष की कोख से हुआ। अनीता को पहलवानी के लिए प्रोत्साहित करने में माता-पिता की अहम भूमिका रही। राष्ट्र मंडल खेलों के लिए चयन प्रतिस्पर्धा में 67 किलोग्राम भार वर्ग में अनीता, गीतिका जाखड़ व मणिपुर की पहलवान मुकाबले में थी। अनीता ने हर मोर्चे पर मुश्तैदी से दाव चलाए और भारतीय टीम में जा पहुंची। भिवानी के लिए गौरव की बात यह भी है कि भारतीय टीम के 7 सदस्यों में पांच हरियाणा के हैं और उसमें से तीन भिवानी के हैं। अनीता व गीता ने भारत के लिए स्वर्ण जीता है तो बबीता ने रजत पदक। अनीता के प्रशिक्षक जिले सिंह बागड़ी का कहना है कि उन्हें इस प्रतिभावान महिला पहलवान से अंतर्राष्ट्रीय कुश्ती प्रतिस्पर्धाओं में न केवल पदकों की उम्मीद थी, बल्कि सर्व श्रेष्ठ पहलवान बनने का भरोसा भी है। अपनी शानदार खेल प्रतिभा की बदौलत ही अनीता को पुलिस में भर्ती होने का मौका मिला। अनीता के कदम निरंतर बढ़त पर रहे है। लेकिन उसका विश्वास मजबूत है। राष्ट्रमण्डल खेलों से पहले ही हरियाणा पुलिस की हवलदार अनीता ने डीएसपी गीतिका जाखड़ को धुल चटा कर राष्ट्रमण्डल खेलों के लिए अपना रास्ता साफ कर लिया था। अनीता ने गीतिका को गत वर्ष दिसम्बर में भोपाल में आयोजित राष्ट्रीय कुश्ती प्रतियोगिता में भी पछाड़ा था। अनीता को शानदार सफलता के लिए सांसद श्रुति चौधरी, विधायक किरण चौधरी, उपायुक्त रमेश चन्द्र वर्मा, अतिरिक्त उपायुक्त रमेश चन्द्र बिढान, पुलिस अधीक्षक अश्रि्वन शैणवी, एसडीएम डीके बेहरा, नगराधीश प्रताप सिंह, डीडीपीओ ओमप्रकाश शर्मा, जिला खेल अधिकारी छाजू राम गोयत, साई छात्रावास के प्रशासक वृषभान, प्रशिक्षक भूपेन्द्र ंिसह ने भी बधाई दी है।[1]

अनीता ने भी जीता गोल्ड

अनीता ने भी राष्ट्रमंडल खेलों में पहली बार शामिल की गई महिला कुश्ती प्रतियोगिता में तिरंगा बुलंद करते हुए 67 किग्रा स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीत लिया। अनीता ने फाइनल में कनाडा की मेगन बायडेंस को 4-1 से पटखनी देते हुए भारत को महिला कुश्ती का तीसरा स्वर्ण दिला दिया।

वर्ष 2005 में राष्ट्रमंडल चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीतने वाली भारतीय पहलवान ने पहले राउंड के 59वें सेकंड में एक अंक जुटाया और फिर दूसरे राउंड के 46वें सेकंड में मेगन को पटखनी देते हुए पूरे तीन अंक जुटा लिए। स्पर्धा का कांस्य पदक नाइजीरिया की इफोमा इएंचो के खाते में गया।[2]

सामौता और अनीता का सम्मान आज

भास्कर न्यूज & भिवानी:[3] कॉमनवेल्थ गेम्स के गोल्डन ब्वाय परमजीत सामौता और कुश्ती की गोल्ड मेडल विजेता अनीता श्योराण के स्वागत के लिए खेल प्रेमियों ने तैयारियां कर ली हैं। दोनों पदक विजेता शनिवार को भिवानी पहुंचेंगे। शुक्रवार से ही दोनों पदक विजेताओं के सम्मान की तैयारियां आरंभ कर दी है। वहीं दोनों पदक विजेताओं के पैतृक गांव ढाणी माहू और दिनोद में शनिवार को होने वाले जश्न को लेकर खेलप्रेमियों ने मुख्य राहों को सजाना और सामूहिक स्थान पर होने वाले कार्यक्रम को अंतिम रूप देना शुरू कर दिया।

गांव दिनोद निवासी परमजीत सामौता शनिवार को दोपहर बाद भिवानी पहुंचेंगे। रोहतक गेट भगवती धर्मशाला से बॉक्सर का स्वागत जुलूस आरंभ किया जाएगा। कोच विष्णु भगवान के मुताबिक विजेता बॉक्सर सामौता का स्वागत जुलूस शनिवार दोपहर बाद रोहतक गेट महम गेट, पुराना बस अड्डा होता हुआ भीम स्टेडियम पहुंचेगा। वहां पर बॉक्सर परमजीत सामौता को सम्मानित किया जाएगा। उसके बाद बॉक्सर का स्वागत जुलूस भिवानी से गांव दिनोद पहुंचेगा। वहां पर भी बॉक्सर को सम्मानित करने की योजना है। दूसरी तरफ शनिवार को ही कुश्ती में गोल्ड मेडल विजेता ढाणी माहू निवासी अनीता श्योराण सुबह भिवानी पहुंचेगी। यहां पर कुश्ती में सोना जीतने वाली अनीता श्योराण को सम्मानित किया जाएगा। ग्रामीण सुशील वर्मा के मुताबिक शनिवार सुबह उसके बाद अनीता को गांव ढाणी लाया जाएगा। ग्रामीणों ने अनीता के सम्मान की तैयारी कर रखी है। ग्रामीणों की तरफ से गांव के स्कूल में सम्मान समारोह किया जाएगा। उन्होंने बताया कि अभी तय किस समय भिवानी पहुंचेगी, लेकिन यह तय है कि सुबह ही अनीता भिवानी पहुंचेगी और उसके बाद गांव ढाणी माहू पहुंचेगी।

परिजनों के मुताबिक सबसे पहले बॉक्सर परमजीत सामौता गांव दिनोद पहुंचकर बाबा धूणीवाले मंदिर में मत्था टेकेगा। पूर्जा अर्चना के बाद ग्रामीण स्कूल ग्राउंड में बॉक्सर को सम्मानित करेंगे। परमजीत के पिता प्रदीप सिंह ने बताया कि उन्होंने अपने आवास पर भी बाहर से आने वाले हर व्यक्ति का मुंह मीठ कराया जाएगा। इसके लिए आज से ही तैयारी आरंभ कर दी है।

चूरमा खिलाएगी मां -

बॉक्सर परमजीत की मां अंग्रेजपति बताती हैं कि जब बेटा परमजीत घर पहुंचेगा तो उसको मैं देसी घी से बना चूरमा खिलाऊंगी। क्योंकि परमजीत को चूरमा बेहद पंसद है। इसके अलावा परमजीत के खाने में चटनी भी दी जाएगी। चटनी-रोटी जी भर खाता है। दूध-घी की छुट्टी कर दूगी। चाहे जितना भी खाए। उसकी मर्जी। मेरे बेटे परमजीत सामोता ने गांव दिनोद के अलावा पूरे प्रदेश व देश का नाम रोशन किया है।

कॉमनवेल्थ गेम्स की कुश्ती स्पर्धा में गोल्ड विजेता अनीता श्योराण को मां संतोष घर पहुंचते ही सबसे पहले छाती के लगाएगी। बेटी की जीत से गदगद मां संतोष ने बताया कि बेटी को घी डालकर गर्म-गर्म दूध पिलाएगी। उसके बाद रोटी पर लोनी घी धरकर खिलाएगी। क्योंकि बेटी अनीता को खाने में उक्त चीजें बेहद पसंद हैं। बाद में वह जो भी खाएगी उसको जी भर करके खिलाऊंगी। बेटी अनीता ने गोल्ड मेडल जीतकर देश का सीना गर्व से चौड़ा कर दिया।

वाहन का नहीं करती थी इंतजार

उनकी बेटी अनीता श्यांराण घर आने के लिए वाहन का इंतजार नहीं करती। अगर वाहन नहीं मिलता तो कंधों पर स्कूली बैग टांगकर दौड़ लगाती हुए है गांव ढाणी माहू तक पहुंच जाती। इस तरह से बेटी अनीता कई बार घर पहुंची। यहां तक कि वह अपने मामा के गांव फतेहगढ़ भी दौड़ लगाकर पहुंच जाती।

External links

References


Back to The Wrestlers