Badanpura

From Jatland Wiki
Jump to: navigation, search

Please also see Badanpur and Badanpuri


Badanpura (बदनपुरा) is a village in Amber tahsil in Jaipur district in Rajasthan.

Location

Origin

Badanpura was founded by Raja Badan Singh of Bharatpur.

सवाई जयसिंह द्वारा बदनसिंह को जयपुर नगर के समीप ही लक्ष्मण डूंगरी की उपत्यका में भूमि आवंटित की गई। यहां पर बदनसिंह ने अपने लिए एक हवेली, बाग, सैनिक आवास बनवाये और अपने नाम पर बदनपुरा नामक गांव बसाया। कछवाहा राजधानी में यह जाटों की सैनिक छावनी थी जहां ठाकुर बदनसिंह जाकर रुकता था। राजा जयसिंह मुगल दरबार में आते जाते वक्त बदनसिंह से मिलने अवश्य जाता था। किन्तु वैण्डल के अनुसार जब कभी मुगल सम्राट् बदनसिंह को अपने दरबार में बुलाता था, तब वह यह कहकर क्षमा मांग लिया करता था कि मैं तो साधारण किसान हूँ। 1 मार्च 1731 ई० को जयसिंह ने मथुरा में बदनसिंह को ‘राव’ का खिताब प्रदान किया। ठाकुर बदनसिंह ने अपनी शान्ति, अथक धैर्य तथा कूटनीति से आगरा जिले के अन्य कई परगने पट्टे पर प्राप्त कर लिये थे। [1]

History

History

It was founded by Raja Badan Singh of Bharatpur. This place was used for his stay during his visits to Jaipur.

Jat Gotras

Population

Notable Persons

External Links

References


Back to Jat Villages