Bamrauli Khera

From Jatland Wiki
Jump to: navigation, search

Bamrauli Khera (बमरौली खेड़ा) is the place of origin of Bamraulia clan Jats. It was founded by their ancestor named Brahmadeva in 192 Yudhishthira Samvat (=2946 BC). It was located on the Banks of Chenab River in Punjab Province.

गोहद के बमरौलिया जाटों का प्राचीन इतिहास

बमरौलिया राजवंश का आदि-स्थान - बमरौलिया राजवंश का मूल उद्गम पंजाब प्रान्त में चिनाब नदी के तट पर बमरौली खेड़ा नामक स्थान माना जाता है. इस वंश के आदि पुरुष ब्रह्मदेव ने इसे युधिष्ठिरी संवत 192 (2946 BC) में बसाया था. [1] (Ojha, p.32)

युधिष्ठिरी संवत- युधिस्ठिर के धर्म-राज्य की स्थापना के अवसर पर युधिष्ठिरी संवत प्रारम्भ हुआ था. महाभारत युद्ध के पश्चात कलियुग प्रारम्भ होने (3102 BC) के 36 वर्ष पूर्व अर्थात 3138 BC में युधिष्ठिरी संवत प्रारम्भ हुआ. (Ojha, p.44)

बमरौली खेड़ा से गढ़ बैराठ क्रमिक आगमन - इसके बाद इनके वंशज हरिचंद्र ने उत्तर पश्चिमी सीमान्त प्रान्त में वर्तमान पाकिस्तान के पेशावर के समीप रुद्रकोट नामक नामी नगर बसाया[2], तथा रूपचन्द्र ने वर्तमान ईरान में जाटाली प्रदेश स्थापना की थी.[3] (Ojha, p.32)

References

  1. Mohan Lal Gupta, Jaipur: Jilewar Sanskritik Evam Aitihasik Adhyayan, p.175
  2. Kannu Mal, Dholpur Rajya Aur Dhaulpur Naresh,p.7
  3. Ranjit Singh, Jat Itihas, p.42

Back to Jat Villages