Bandhnau

From Jatland Wiki
Jump to: navigation, search
Location of Bandhnau in Churu district

Bandhnau (बंधनाऊ) is a village in Sardarshahar tahsil in Churu district in Rajasthan. It is situated in north direction of Sardarshahar city. There are two villages of this name: 1. Bandhnau Dikhnada, 2. Bandhnau Utrada

Location

यह सरदारशहर से 15 किलोमीटर की दूरी पर दक्षिण-पश्चिम दिशा में बीकानेर हाईवे पर स्थित है।

Founders

Saran Jats

Population

As per Census-2011 statistics, Bandhnau Dikhnada village has the total population of 2598 (of which 1357 are males while 1241 are females).[1]

इतिहास

सारणौटी: बंधनाऊ राजस्थान में चुरू जिले का एक प्राचीन गाँव है. चूरू जनपद के जाट इतिहास पर दौलतराम सारण डालमाण[2] ने अनुसन्धान किया है और लिखा है कि पाउलेट तथा अन्य लेखकों ने इस हाकडा नदी के बेल्ट में निम्नानुसार जाटों के जनपदीय शासन का उल्लेख किया है जो बीकानेर रियासत की स्थापना के समय था।

क्र.सं. जनपद क्षेत्रफल राजधानी मुखिया प्रमुख ठिकाने
2. सारण (सारणौटी) 360 गाँव भाडंग पूलाजी सारण खेजड़ा , फोगां , धीरवास , भाडंग , सिरसला , बुच्चावास , सवाई, पूलासर, हरदेसर, कालूसर, बन्धनाऊ , गाजूसर, सारायण, उदासर


भाड़ंग (Bharang) राजस्थान में चुरू जिले की तारानगर तहसील में चुरू से लगभग 40 मील उत्तर में बसा एक गाँव है. यह राठोड़ों के आगमन से पहले सारण जाटों की राजधानी थी. खेजड़ा, फोग , बुचावास , सूई , बदनु , सिरसला आदि इस राज्य में जिलों के नाम थे.

बंधनाऊ गांव सरदारशहर तहसील का एक बड़ा गांव है। यह सरदारशहर से 15 किलोमीटर की दूरी पर बीकानेर हाईवे पर स्थित है। यहां लगभग 1100 घरों की आबादी है। यहाँ के लोगों का मुख्य पेशा खेती है। कुछ लोग अन्यत्र व्यापार के कारोबार से जुड़े हैं। यह गांव लगभग 700 वर्ष पुराना है। इतिहास की पुस्तकों में इस गाँव का उल्लेख है। कर्नल टॉड अनालस एंड एंटिक्विटीज ऑफ राजस्थान[3], नैंसी की ख्यात, दयालदास की ख्यात आदि इतिहास की पुस्तकों के अलावा कृषक आंदोलन की पुस्तकों में भी यहां के किसानों के संघर्ष का उल्लेख मिलता है। यहां का किसान हमेशा अपने लड़ाकापन के लिए प्रसिद्ध रहा है। आज भी यहां के आदमी, औरतें और बच्चे अच्छे कद काठी के हैं। इस गांव में खेलकूद व सेना में अपनी विशेष पहचान बनाने की योग्यता नजर आती है।

सामाज सुधार कार्य

हरिजन उद्धार: सरदारशहर के बंधनाऊ गांव में कुए पर ढाणे में पानी भरने की मांग करने पर हरिजनों के विरोध में पूरे गांव के सवर्णों ने ढाणे में पानी भरने का विरोध किया। यह विवाद बहुत बढ़ गया। आसपास के गांवों और कस्बों से काफी लोग हरिजनों के विरोध में इकट्ठा हो गए। औरतें कुएं पर गंडासी, कुल्हाड़ा, फरसी और नंगी तलवार लेकर पहरा देने लगे। विवाह ने उग्र रूप धारण कर लिया। जिले के कलेक्टर एसपी पर उग्र भीड़ ने पत्थरों और धूल की वर्षा कर दी। इस पर गोली चलने की स्थिति बन गई पर अधिकारियों ने संयम बरता। कलेक्टर रामसिंह चौहान ने श्री दौलतराम सारण से संपर्क कर स्थिति की गंभीरता बताई और कहा कि आप आकर समझाएं तो गांव के लोग मान सकते हैं। ऐसा विश्वास है कि कलेक्टर और एसपी श्री सारण को जीप से सरदारशहर लाये। बंधनाऊ गांव में तनाव का वातावरण होने के कारण सुरक्षा की दृष्टि से गांव जाना ठीक नहीं बताया। वे राजकीय कोठी में ठहरे और सारण ने 5-7 मुख्य लोगों को बुलाया और उनको समझाया तो वह गांव चलने का आग्रह करने लगे। श्री दौलतराम सारण ने कहा कि आप ढाणे से पानी भरने के काम में मदद करें तो गांव चलें। उन्होंने मदद का वादा कर आपको रात को ही गांव ले गए। SP कलेक्टर ने मना किया लेकिन सारण गांव चले गए। कुए पर लोग पहरा दे रहे थे। श्री सारण ने गांव के लोगों को समझाया तो उन्होंने बात मान ली। [4]


स्वतन्त्रता आंदोलन: बंधनाऊ गांव के लोगों ने जागीरदारी उन्मूललन और स्वतन्त्रता आंदोलन में भाग लिया है। [5]


मूंगफली के बकाया को लेकर बंधनाऊ में प्रदर्शन: समर्थन मूल्य पर खरीदी गई मूंगफली का भुगतान नहीं मिलने से परेशान गांव बंधनाऊ के किसानों ने मंगलवार को विरोध-प्रदर्शन किया। गांव के भंवरलाल सारण व मांगीलाल जोशी ने बताया कि समर्थन मूल्य पर बेची गई मूंगफली का भुगतान किसानों को अब तक नहीं मिला है, जिसके कारण उन्हें आर्थिक परेशानी का सामना करना पड़ा रहा है। किसानों ने नारेबाजी कर विरोध जताया तथा जल्द भुगतान नहीं करने पर आंदोलन करने की चेतावनी दी। इस मौके पर सांवताराम, रेवंतराम, आसुराम, तोलाराम सारण, श्रवणकुमार, रामनिवास स्वामी, दौलतराम स्वामी, राजेंद्र मौजूद थे। [6]


ग्राम पंचायत बंधनाऊ में नवयुग फाउंडेशन की ओर से रविवार को क्रिकेट प्रतियोगिता का शुभारंभ हुआ: ग्राम पंचायत बंधनाऊ में नवयुग फाउंडेशन की ओर से रविवार को क्रिकेट प्रतियोगिता का शुभारंभ हुआ। सरपंच गौरीशंकर सारण की अध्यक्षता में हुए कार्यक्रम में मुख्य अतिथि प्रधान सत्यनारायण सारण ने प्रधान कोटे से खेल मैदान का समतलीकरण करवाने व चार दीवारी निर्माण करवाने की घोषणा की। नवयुग फाउंडेशन अध्यक्ष धर्मवीर सारण व नेतराम सारण ने बताया कि उदघाटन मैच बंधनाऊ व भादासर के बीच खेला गया, जिसमें बंधनाऊ की टीम तीन विकेट से विजेता रही। प्रतियोगिता में आसपास के क्षेत्रों की 16 टीमें भाग ले रही है। इस मौके पर करण चौधरी, पतराम सारण, मांगीलाल पारीक, प्रभुराम सारण, धर्मवीर सारण, गोपालराम, हड़मानाराम, श्रवण उपस्थित थे। [7]

शिक्षा में सुधार

यहां के कुछ जागरूक ग्रामीण पिछले कुछ वर्षों से विशेष सक्रिय नजर आ रहे हैं जो इस गांव को शिक्षा में अग्रणी गांव बनाने में प्रयासरत हैं। कामरेड दौलतराम सारण, व युवा सरपंच श्री गौरीशंकर सारण, प्रभु राम शर्मा, मामराज सारण, लादुराम बुगालिया, छात्र जगदीश सारण आदि के नेतृत्व में शिक्षा के वातावरण निर्माण हेतु विशेष सिलसिला शुरु किया गया है। यहां ग्रामीणों द्वारा विद्यालयों की नियमित देख-रेख की जा रही है तथा सहयोग किया जाता है। यहां उच्च प्राथमिक स्तर का बालिकाओं के लिए अलग से सरकारी विद्यालय संचालित है जहां शिक्षा की गुणवत्ता का स्तर बहुत अच्छा है। इसके अलावा उच्च माध्यमिक स्तर का सरकारी विद्यालय है जहां लगभग 500 विद्यार्थी अध्ययनरत हैं। बोर्ड परीक्षाओं में यहां की छात्रा मैना डूडीराजू सारण ने जिला मैरिट में स्थान प्राप्त करने के अलावा अन्य विद्यार्थियों ने उच्छ अंक प्राप्त कर गांव का नाम रोशन किया है। यहां अंग्रेजी का माध्यमिक विद्यालय (गुरुकुल) चल रहा है। यहाँ बच्चे अंग्रेजी माध्यम से शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं। ग्रामीणों द्वारा शिक्षा का प्रेरणादाई माहौल बनाने के लिए समय-समय पर सभा-सेमिनारों का आयोजन किया जाता है। सालाना पंचायत स्तरीय प्रतिभा सम्मान समारोह आयोजित करवाए जाते हैं जिसके परिणाम स्वरुप उनके परिणाम शानदार रहे हैं। सरदार शहर की राजकीय कालेज, निजी कॉलेज, डूंगर कॉलेज व अन्य कॉलेजों में प्रवेश लेने वाले विद्यार्थियों की सबसे अधिक संख्या इस गांव की है।

अच्छे अंक प्राप्त वाले प्रतिभाओं को दिये चांदी के मैडल

ग्रामपंचायत बंधनाऊ की चौपाल में रविवार को ग्रामीणों की ओर से स्कूल में अच्छे अंक लाने वाली 35 प्रतिभाओं को सम्मानित किया। प्रतिभाओं को प्रतिक चिन्ह चांदी के मैडल देकर अभिनंदन किया गया। अध्यक्षता करते हुए सरपंच गौरीशंकर सारण ने युवाओं के लिए मैदान तैयार करने की घोषणा की। मुख्य वक्ता तहसीलदार जयकौशिक ने कहा कि जो माता पिता अपने बच्चो को शिक्षा से वंचित रखते है, वह संसार में पापी माने जाते है। मुख्य अतिथि हरियाणा से संत बहन पुष्पा ने कहा कि देश में बेटियों की हालत बड़ी खराब है, उन्हें सुधारने की जरूरत है। वर्तमान में बेटियों को दहेज देने के भय से लोग मार देते है, जो बहुत बड़ा अन्याय है। इसके लिए पूरे देशभर में लड़ाई लड़ेंगे। विशिष्ट अतिथि डिप्टी राजेंद्र ढिढारिया, सीआई ओमप्रकाश गोदारा स्थापना कोचिंग निदेशक आरके बेनीवाल ने कहा कि देश का सारा भविष्य युवाओं पर टिका हुआ है। युवा ही देश की सूरत बलद पाएंगे। इस मौके पर किसान सभा अध्यक्ष दौलतराम सारण, ज्ञान पब्लिक स्कूल निदेशक विनोद जांगिड़, देवीलाल भाकर, शेखावत शिक्षक संघ अध्यक्ष रणवीर सारण, संपत जांगिड़, मांगीलाल पारीक, एडवोकेट सुरेंद्र बुडानिया, लालचंद डूडी, राकेश जाखड़, एनएसयूआई तहसील अध्यक्ष विशाल जाखड़, अजय सिंवर, रामचंद्र जाखड़, लक्ष्मणराम महला, पूराराम गांधी, किरोड़ीमल मीणा, रामचंद्र, श्रवण चोटी, दिनेश डालमाण सत्यनारायण झाझडि़या आदि ने विचार व्यक्त किए। [8]

राष्ट्रपति प्रतिभा पाटील का कार्यक्रम

सरदारशहर के गांव बंधनाऊ में 17 नवंम्बर 2011 को राष्ट्रपति प्रतिभा पाटील का कार्यक्रम हुआ। आदर्श ग्राम विकास परियोजना के तहत जनसहयोग से निर्मित आचार्य महाप्रज्ञ राउमावि के उद्घाटन समारोह के लिए 30 गुणा 14 फीट का पक्का मंच बनाया गया। लोगों के बैठने के लिए जयपुर के कारीगर 40 हजार वर्ग फीट का विशाल पांडाल बनाया गया।[9]

राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल ने कहा है कि भारत का हृदय गांवों में धड़कता है और जब तक देश के गांव समृद्ध नहीं होंगे तब तक संतुलित विकास का लक्ष्य पूरा नही हो सकता। श्रीमती पाटिल आज सरदारशहर उपखण्ड के बंधनाऊ गांव में आदर्श ग्राम विकास परियोजना के तहत बने आचार्य महाप्रज्ञ राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय के उद्घाटन समारोह को सम्बोधित कर रही थीं। उन्होंने कहा कि देश की 65 प्रतिशत आबादी गांवों में बसती है और एक एक नागरिक तक विकास की रोशनी पहुंचाए बिना भारत का विकास अधूरा है। उन्होंने कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की अभिलाषा ऐसा ग्राम स्वराज लाने की थी जिसमें हर एक गांव देश के विकास में आत्मनिर्भर इकाई के रुप में कार्य करे। [10]

Notable persons

  • कुमारी धनी सहारण - पुत्री सरवन सहारण को 92 प्रतिशत अंक प्राप्त होने पर मुख्यमन्त्री बेटी योजना के अंतर्गत 13.55 लाख का पैकेज पुरस्कार दिया गया है।
  • श्री दौलतराम सारण - मोब: 9928577115, पुत्र श्री लूणाराम सारण, आयु 62 वर्ष, एक सामाजिक और राजनीतिक कार्यकर्ता है। आप किसान सभा के तहसील अध्यक्ष हैं। आप किसान हितों के लिए पिछले 15 वर्ष से संघर्ष कर रहे हैं। शिक्षा के प्रचार-प्रसार और गुणवत्ता के कार्यों में आप सक्रिय हैं।

Gallery

External links

References

  1. http://www.census2011.co.in/data/village/70408-bandhnau-dikhnada-rajasthan.html
  2. 'धरती पुत्र : जाट बौधिक एवं प्रतिभा सम्मान समारोह, साहवा, स्मारिका दिनांक 30 दिसंबर 2012', पेज 8-10
  3. Annals and Antiquities of Rajasthan, Volume II, Annals of Bikaner, p.159
  4. Jananayak Shri Daulat Ram Saran Abhinandan Granth‎‎ , p.56
  5. Sanjay Singh Saharan, Dharati Putra: Jat Baudhik evam Pratibha Samman Samaroh Sahwa, Smarika 30 December 2012, by Jat Kirti Sansthan Churu, pp.11-12
  6. भास्कर समाचार, 11.4.2018
  7. भास्कर समाचार, 15.1.2018
  8. लॉयन न्यूज,चूरू, 14.11.2016
  9. sikarlivecom on facebook
  10. देशबंधु समाचार, 17.11.2011

Back to Jat Villages