Beg Raj Kuhad

From Jatland Wiki
Jump to: navigation, search
Author:Laxman Burdak, IFS (R), Jaipur

Beg Raj Kuhad (बेगराज कुहाड़ देवरोड़), from Deorod, Jhunjhunu, was a social worker and Freedom fighter who took part in Shekhawati farmers movement in Rajasthan. [1]

जाट जन सेवक

ठाकुर देशराज[2] ने लिखा है ....बेगराज जी देवरोड़ - जन्म: संवत 1966 विक्रम मगशिर बदी 2, शिक्षा: ग्राम पाठशाला में। सन 1931 में झुंझुनू महोत्सव के लिए काम किया।


[पृ.436]: सीकर यज्ञ में सहायता की, सराधना के जाट सम्मेलन में गए, गढ़गंगा के जलसे में सन 1936 में गए। आर्य समाजी ख्याल आप ने बचपन से ही पसंद किया। पंडित दतूराम जी से जनेऊ लिया। अपने भाई पन्ने सिंह जी के कार्यों में सहानुभूति रखी।

जीवन परिचय

आपका परिवार

ठाकुर देशराज[3] ने लिखा है ....कुंवर भूरसिंह - [पृ.391]: चौधरी जालूराम जी का जन्म नरहड़ कस्बे में संवत 1920 में हुआ था। देवरोड़ में उनकी ननसाल थी। पिता 2 साल के बाद मर चुके थे इसलिए उनकी मां देवरोड में आ गई। संवत 1940 में मां तीर्थाटन के चली गई। गरीब बालक जालू राम ने अत्यंत परिश्रम से अपनी आर्थिक दशा को संभाला। कुछ गुंजाइश हुई तो सारी कमाई को लेन-देन में लगाते रहे। वह लेन देन उन्हें इतना फला कि संतान और पैसे का घाटा न रहा। आपने अनेक तीरथों की यात्रा की और भूखे नंगो को मदद दी। काम करते-करते भी आप राम नाम का जप नहीं भूलते थे। संवत 1999 में आप का देहांत हो गया।


[पृ.392]: चौधरी जालूराम जी के चार पुत्र थे: 1. चेतराम, 2. भूर सिंह, 3. पन्ने सिंह और 4. बेगराज। चेतराम जी का देहांत चौधरी जी की तरुणावस्था में ही हो चुका था। उन्होंने हरदेव सिंह नाम के पुत्र को छोडा। पन्ने सिंह जी उनके ही आगे गुजर गए। भूर सिंह जी और बेगराज जी मौजूद हैं।

भूर सिंह जी का जन्म संवत 1950 (1894 ई.) में माघ सुदी 10 को हुआ था। आपके पिता ने अपने पुत्र को शिक्षा के लिए एक पंडित जी को नियुक्त किया था। जिससे आपने कामचलाऊ शिक्षा प्राप्त कर ली।

सन्दर्भ

  1. Thakur Deshraj:Jat Jan Sewak, 1949, p.435-436
  2. Thakur Deshraj:Jat Jan Sewak, 1949, p.435-436
  3. Thakur Deshraj:Jat Jan Sewak, 1949, p.391-393

Back to Jat Jan Sewak/The Freedom Fighters/The Martyrs