Bhairupura

From Jatland Wiki
Jump to: navigation, search

Bhairupura (भैरूपुरा) is a village in Niwai tahsil in Tonk district in Rajasthan.

Location

Origin

The Founders

History

भैरूपुरा में लगान वसूली - जाट अब गाँवों में संगठित होने लगे. उनकी और से अब गाँवों में सामूहिक प्रतिरोध किया जाने लगा, जिससे गाँवों में स्थिति तनावपूर्ण होने लगी. भैरूपुरा में जाटों ने राजस्व अधिकारियों को लगान वसूल नहीं करने दिया. स्थिति इतनी तनावपूर्ण हो गयी की कैप्टन वेब को 22 अप्रेल 1935 को लगान वसूल करने स्वयं जाना पडा. स्त्रियों ने कैप्टन वेब को गाँव में घुसने में बाधा पहुंचाई. 200 सीकर पुलिस आदमियों की सहायता से गाँव को घेरकर वह लगान जबरदस्ती वसूल कर लाये. [1]

शेखावाटी किसान आन्दोलन के दौरान सन 1935 में अंग्रेज अफसर वेब और जागीरदारों द्वाराइ अन्यायों का अन्यायों का ताँता बंध गया था और गाँवों में जाटों को पीटा जाने लगा. अगले दिन कैप्टन वेब एवं मि. यंग पुलिस दल के साथ ईश्वरसिंह भामू के गाँव भैरूपुरा' पहुंचे. आते ही ईश्वर सिंह को गिरफ्तार कर लिया. पुरुष छुप गए तो महिलाओं ने मोर्चा संभाला. ईश्वर सिंह की पत्नी मंशी देवी ने महिलाओं का नेतृत्व किया. उसने अंग्रेज अफसरों को खरी-खोटी सुनाई. अंग्रेज अफसरों ने समझा बुझा कर गाँव से लगान ले लिया. भैरूपुरा गाँव में औरतों के बदन से उनका जेवर लगान में उतारा. चौधरी ईश्वर सिंह की पत्नी को पीटा गया और उससे लगान के 53 रुपये बकाया के स्थान पर 145 रुपये ईश्वर सिंह की गैर हाजरी में वसूल किये. कनलाऊ गाँव से पिछला माफ़ हुआ 750 रुपये भी वसूल किया. अपमानित करने के लिए वहां कई जाटों की मूंछें काट दी गयी. इसी प्रकार जेठवा का बास में रामू चौधरी को पीटा और फिर उससे तमाम गाँव का 1700 रुपये लगान वसूल किया और पन्ने सिंह जाट का भी उससे लगान वसूल कर 200 रूपया जुर्माना लिया गया. उसकी भी दाढ़ी काटकर बेइज्जत किया गया. यहाँ भी स्कूल बंद करवा दिया.

Jat Gotras

Population

Notable Persons

External Links

References

  1. डॉ पेमाराम: शेखावाटी किसान आन्दोलन का इतिहास, 1990, p.118

Back to Jat Villages