Budh Ram Pilania

From Jatland Wiki
Jump to: navigation, search

Budh Ram Pilania from village Amarpura of then district Ganganagar in Rajasthan, present Hanumangarh was a leading Freedom fighter who took part in Shekhawati farmers movement in Rajasthan.

His son Gyan Prakash Pilania

His son Gyan Prakash Pilania (ज्ञानप्रकाश पिलाणिया) (born on 18th February 1932) is an eminent personality of Rajasthan in India. He was officer of the Indian Police Service. He is a social reformer and leader of farmers in Rajasthan.

जीवन परिचय

ठाकुर देशराज[1] ने लिखा है... चौधरी हरीशचन्द्र जी की तीन लड़की थीं। पहली गोरादेवी चौधरी बुधराम जी को ब्याही थी। जिनसे श्री ज्ञान प्रकाश और जयदेव सिंह दो पुत्र हुये।

दूसरी चंद्रावती गोरा की जगह चौधरी बुधराम जी को ब्याही थी। जिनसे तीन पुत्र हुये 1. सुरेन्द्र सिंह, 2. देवेन्द्र सिंह, 3. वीरेंद्र सिंह।

तीन लड़कियां हुई – 1. दयावती, 2. इंदुबाला और 3. राजेश्वरी


इनमें सुरेन्द्र और दया ने बीए कर लिया है। इंदुबाला जालंधर कन्या महाविद्यालय में शिक्षा प्राप्त कर रही हैं। बाकी सभी पढ़ रहे हैं। तीसरी लड़की चौधरी गोपीचन्द पूनिया बीए पंचकोशी को ब्याही थी जो गुजर चुकी है।

चौधरी बुधराम जी नायबतहसीलदार के पद से रिटायर होकर घर के काम धंधों और जमीन जायदाद की देखभाल करते हैं। वे अछे, परिश्रमी स्वभाव के लिए विख्यात हैं।

Gallery

References


Back to The Freedom Fighters