Dinod

From Jatland Wiki
Jump to: navigation, search

Dinod (दिनोद) is a large village in Bhiwani tahsil and district, Haryana. It came in to limelight because of its native Paramjit Samota.

Location

It is located about 8 kilometres away from Bhiwani city.

Jat Gotra

Population

The Dinod village has a population of 11792 of which 6398 are males while 5394 are females (as per Population Census 2011)[2]

History

सामौता और अनीता का सम्मान आज

भास्कर न्यूज & भिवानी:[3] कॉमनवेल्थ गेम्स के गोल्डन ब्वाय परमजीत सामौता और कुश्ती की गोल्ड मेडल विजेता अनीता श्योराण के स्वागत के लिए खेल प्रेमियों ने तैयारियां कर ली हैं। दोनों पदक विजेता शनिवार को भिवानी पहुंचेंगे। शुक्रवार से ही दोनों पदक विजेताओं के सम्मान की तैयारियां आरंभ कर दी है। वहीं दोनों पदक विजेताओं के पैतृक गांव ढाणी माहू और दिनोद में शनिवार को होने वाले जश्न को लेकर खेलप्रेमियों ने मुख्य राहों को सजाना और सामूहिक स्थान पर होने वाले कार्यक्रम को अंतिम रूप देना शुरू कर दिया।

गांव दिनोद निवासी परमजीत सामौता शनिवार को दोपहर बाद भिवानी पहुंचेंगे। रोहतक गेट भगवती धर्मशाला से बॉक्सर का स्वागत जुलूस आरंभ किया जाएगा। कोच विष्णु भगवान के मुताबिक विजेता बॉक्सर सामौता का स्वागत जुलूस शनिवार दोपहर बाद रोहतक गेट महम गेट, पुराना बस अड्डा होता हुआ भीम स्टेडियम पहुंचेगा। वहां पर बॉक्सर परमजीत सामौता को सम्मानित किया जाएगा। उसके बाद बॉक्सर का स्वागत जुलूस भिवानी से गांव दिनोद पहुंचेगा। वहां पर भी बॉक्सर को सम्मानित करने की योजना है। दूसरी तरफ शनिवार को ही कुश्ती में गोल्ड मेडल विजेता ढाणी माहू निवासी अनीता श्योराण सुबह भिवानी पहुंचेगी। यहां पर कुश्ती में सोना जीतने वाली अनीता श्योराण को सम्मानित किया जाएगा। ग्रामीण सुशील वर्मा के मुताबिक शनिवार सुबह उसके बाद अनीता को गांव ढाणी लाया जाएगा। ग्रामीणों ने अनीता के सम्मान की तैयारी कर रखी है। ग्रामीणों की तरफ से गांव के स्कूल में सम्मान समारोह किया जाएगा। उन्होंने बताया कि अभी तय किस समय भिवानी पहुंचेगी, लेकिन यह तय है कि सुबह ही अनीता भिवानी पहुंचेगी और उसके बाद गांव ढाणी माहू पहुंचेगी।

परिजनों के मुताबिक सबसे पहले बॉक्सर परमजीत सामौता गांव दिनोद पहुंचकर बाबा धूणीवाले मंदिर में मत्था टेकेगा। पूर्जा अर्चना के बाद ग्रामीण स्कूल ग्राउंड में बॉक्सर को सम्मानित करेंगे। परमजीत के पिता प्रदीप सिंह ने बताया कि उन्होंने अपने आवास पर भी बाहर से आने वाले हर व्यक्ति का मुंह मीठ कराया जाएगा। इसके लिए आज से ही तैयारी आरंभ कर दी है।

चूरमा खिलाएगी मां -

बॉक्सर परमजीत की मां अंग्रेजपति बताती हैं कि जब बेटा परमजीत घर पहुंचेगा तो उसको मैं देसी घी से बना चूरमा खिलाऊंगी। क्योंकि परमजीत को चूरमा बेहद पंसद है। इसके अलावा परमजीत के खाने में चटनी भी दी जाएगी। चटनी-रोटी जी भर खाता है। दूध-घी की छुट्टी कर दूगी। चाहे जितना भी खाए। उसकी मर्जी। मेरे बेटे परमजीत सामोता ने गांव दिनोद के अलावा पूरे प्रदेश व देश का नाम रोशन किया है।

कॉमनवेल्थ गेम्स की कुश्ती स्पर्धा में गोल्ड विजेता अनीता श्योराण को मां संतोष घर पहुंचते ही सबसे पहले छाती के लगाएगी। बेटी की जीत से गदगद मां संतोष ने बताया कि बेटी को घी डालकर गर्म-गर्म दूध पिलाएगी। उसके बाद रोटी पर लोनी घी धरकर खिलाएगी। क्योंकि बेटी अनीता को खाने में उक्त चीजें बेहद पसंद हैं। बाद में वह जो भी खाएगी उसको जी भर करके खिलाऊंगी। बेटी अनीता ने गोल्ड मेडल जीतकर देश का सीना गर्व से चौड़ा कर दिया।

वाहन का नहीं करती थी इंतजार

उनकी बेटी अनीता श्यांराण घर आने के लिए वाहन का इंतजार नहीं करती। अगर वाहन नहीं मिलता तो कंधों पर स्कूली बैग टांगकर दौड़ लगाती हुए है गांव ढाणी माहू तक पहुंच जाती। इस तरह से बेटी अनीता कई बार घर पहुंची। यहां तक कि वह अपने मामा के गांव फतेहगढ़ भी दौड़ लगाकर पहुंच जाती।

Notable person from this village

External Links

References


Back to Jat Villages Category:Jat Martyr Villages]]