Gachhipura

From Jatland Wiki
Jump to navigation Jump to search
Location of Gachhipura in Nagaur district

Gachhipura (ग़च्छीपुरा) is a village in Degana Tehsil of Nagaur in Rajasthan.

Location

Gachhipura is a in north-west of Harnawa. Gachhipura is a Railway Station[1] and 16 km away from Degana in North-East direction.

Jat gotras

History

हरजीराम भाटी के दो बेटे थे । बड़ा कानाजी, छोटा धुणा जी । कानाजी एक संत बन गए, जबकि धुणा जी ने धुणासर गाँव बसाया जो कि आज भी है रामदेवरा से 8 कि.मी. दूर है क्योंकि हरजीराम भाटी हरनावा गाँव बसाया था जो कि परबतसर में है । वो जैसलमेर से आये थे पोकरण के पास से जब वहाँ पर अकाल पड़ गया तब उनके गाँव ने मालवा (मंदसोर) जाने जाने की सोची क्योंकि हरजीराम भाटी सरदार थे जब उन्होंने यहाँ पर पानी देखा तो गच्छीपुरा के पास बसे । उस जगह का नाम हरजी से हर + नावा = हरनावा रखा जिसका अर्थ है हर का निवास स्थान । धुणाजी को अपने पूर्वजों के गाँव देखने की इच्छा हुई तो वो जैसलमेर आये यहाँ उन्होंने (धुणाजी ने) धुणासर गाँव बसाया । लेकिन कुछ समय बाद हरनावा गाँव आ गये उनका बेटे का नाम जालमसिंह था, जालम सिंह के बेटे का नाम रामसिंह था, रामसिंह के बेटे का नाम रामगोपाल था, उनकी शादी गंगा देवी (गढ़वाल गोत्री) से हुई उनकी बेटी रानाबाई का जन्म सम्वत 1561 (10 अप्रेल 1504) आखा तीज को हुआ ।[2]

ठाकुर देशराज[3] लिखते हैं कि मारवाड़ में चुंटीसरा नामक गाँव है । उसमें एक बड़े प्रसिद्द जाट-भक्त हुए हैं । वे सदारामजी महाराज के नाम से पुकारे जाते हैं । रेवाड़ गोत्र के जाट परिवार में उनका जन्म हुआ था । उनके 24 शिष्य थे, जिन्होंने राजस्थान के विभिन्न भागों पर मंदिर स्थापित किये । सभी जातियों के लोग उनकी प्रशंसा करते हैं और श्रद्धा के साथ उनका स्मरण करते हैं । उनके मंदिर निम्न स्थानों में हैं -

1. Chuntisara (चुंटीसरा), 2. Balaya (बलाया), 3. Barangaon (बरणगांव), 4. Phirod (फिड़ोद), 5. Kharnal (खरनाल), 6. Nagaur (नागौर), 7. Phalaudi (फलौदी), 8. Marwar Mundwa (मारवाड़ मुंडवा), 9. Sujangarh (सुजानगढ़) (Bikaner), 10. Utalad (उटालड़) (D.Churu), 11. Desh (देश), 12. Teu (टेऊ), 13. Dulchasar (दुलचासर), 14. Nathasar (नाथासर), 15. Bikaner (बीकानेर), 16. Raghunathsar (रघुनाथसर), 17. Mastramji Acharyon Ke Chok Men (मस्तरामजी आचार्यों के चोक में), 18. Vinaniya Ke Chok Men (विनानिया के चोक में), 19. Gaanvren (गांवरेन), 20. Gachhipura (ग़च्छीपुरा), 21. Jodhpur (जोधपुर), 22. Udaipur (उदयपुर), 23. Jaipur (जयपुर), 24. Nagaur (नागौर) ।

इनके शिष्यों में जोधपुर में जाटों के बास में मूरदास जी के नाम से मशहूर संत हुए हैं ।

Geography

Gachhipura is located at 26° 56' 60" North Latitude & 74° 28' 0" East Longitude.[4] It has an average elevation of 361 meters (1187 feet).

Notable persons

External Links

References

  1. Gachhipura on indiarailinfo.com
  2. Ranabai Ka Itihas Jat Samaj-July 2000, as told by Ramaram Dhun Pujjari of Ranabai Mandir Harnawa. JEETUTOMARJAT (talk) 12:59, 16 November 2012 (EST)
  3. जाट इतिहास, पृ. 609
  4. Falling Rain Genomics, Inc - Gachhipura

Back to Jat Villages