Gulmarg

From Jatland Wiki
(Redirected from Gaurimarga)
Jump to navigation Jump to search
Author:Laxman Burdak, IFS (Retd.)

Gulmarg (Hindi:गुलमर्ग, Urdu; گلمرگ)(Meaning: "Meadow of Flowers") is a town and a hill station in Baramula district in Jammu and Kashmir.

Variants

Location

Gulmarg is located at a distance of 45 kms from Srinagar. The town is situated in the Pir Panjal range in the western the Himalayas and is within miles of the Line of Control between India and Pakistan.

Origin of name

Originally called Gauri Marg (गौरी मार्ग) meaning (the path of Devi Gauri), which was later on changed to Gulmarg by Yusuf Shah of Chak Dynasty.[1][2]

History

Gulmarg originated from Gaurimarg meaning “the fair one” by shepherds in honour of the Hindu goddess Parvati,[3][4] the resort was renamed Gulmarg or the “meadow of flowers” by Sultan Yusuf Shah of the Chak Dynasty who frequented the place with his mistress Habba khatoon in the 16th century.[5][6]

In the 19th century, British Civil servants started using Gulmarg as a retreat to escape summers in North Indian plains. Hunting and golfing were their favourite pastimes and by 20th century three golf courses had been established in Gulmarg including one exclusively for women. In 1927, British established a ski club in Gulmarg and two annual ski events were hosted one each during Christmas and Easter.[7]

During the early part of the 20th century the famous Central Asian explorer Sir Marc Aurel Stein (1862–1943), made his home here in a tent between his expeditions. [8]

गुलमर्ग

विजयेन्द्र कुमार माथुर[9] ने लेख किया है ... गुलमर्ग (AS, p.293) कश्मीर का प्रसिद्ध पर्वतीय स्थान है. यहाँ का प्रसिद्ध 'रानी मंदिर' चीनी-बौद्ध शैली में निर्मित है। मंदिर अपेक्षाकृत नवीन होते हुए भी कश्मीर की पुरानी वास्तुकला का उदाहरण है। गुलबर्ग मुग़ल बादशाहों, विशेषकर जहाँगीर का प्रिय क्रीड़ास्थल था।

गुलमर्ग परिचय

गुलमार्ग श्रीनगर से 45 कि.मी. की दूरी पर स्थित है। गुलमार्ग का अर्थ है - 'फूलों का स्थान'। यह घूमने के लिए बहुत ही आकर्षक स्थान है। समुद्रतल से इसकी ऊंचाई है 8500 फीट। यह शहर पहाड़ी पर एक प्लेटो पर स्थित है। साल में 6 महीने तो यह जगह बर्फ से ढकी रहती है।

गुलमर्ग की खोज 1927 में अंग्रेजों ने की थी। यह स्थान पहले “गौरीमर्ग” के नाम से जाना जाता था, जो भगवान शिव की पत्नी "गौरी" का नाम है। फिर 16वीं शताब्‍दी में कश्मीर के अंतिम राजा, राजा "युसुफशाह चक" ने इस स्थान की खूबसूरती और शांत वातावरण में मग्न होकर इसका नाम गौरीमर्ग से बदल कर "गुलमर्ग" रख दिया। आज यह सिर्फ पहाड़ों का शहर नहीं है, बल्कि यहाँ विश्‍व का सबसे बड़ा गोल्‍फ कोर्स और देश का प्रमुख स्‍की रिज़ॉर्ट है।

गुलमर्ग में 8,126 मीटर ऊँचा नंगा पर्वत हिमालय के उच्चतम शिखरों में से एक है। यहाँ चारों तरफ़ की वृत्ताकार सड़क से घाटी और पर्वतों के समस्त दर्शनीय स्थल देखे जा सकते हैं। गुलमर्ग का 'सैरगाह' दुनिया के सबसे ऊँचे गॉल्फ़ मैदान के लिए प्रसिद्ध है, साथ ही यहाँ टेनिस, स्कीइंग तथा पोलो जैसे खेलों की सुविधाएँ भी उपलब्ध हैं। पहले गुलमर्ग जम्मू-कश्मीर राज्य की सीमा शुल्क तथा निगरानी चौकी हुआ करता था।

संदर्भ: भारतकोश-गुलमर्ग

References

  1. Kumar, Brajesh (2003). Pilgrimage Centres of India. Diamond Pocket Books (P) Ltd. ISBN 9788171821853.
  2. Lovell-Hoare, Max; Lovell-Hoare, Sophie (1 July 2014). Kashmir: Jammu. Kashmir Valley. Ladakh. Zanskar. Bradt Travel Guides. ISBN 9781841623962.
  3. Official Website of Jammu & Kashmir Tourism
  4. Mitra, Swati (2013). Jammu & Kashmir: Travel Guide. Eicher Goodearth Limited. pp. 30–36. ISBN 978-93-80262-45-1.
  5. Chaturvedi, B.K. Tourist Centers Of India. Diamond Pocket Books (P) Ltd. p. 82. ISBN 978-81-7182-137-2.
  6. Gulmarg Gondola
  7. Official Website of Jammu & Kashmir Tourism
  8. Gulmarg Gondola
  9. Aitihasik Sthanavali by Vijayendra Kumar Mathur, p.293