Panchajanya

From Jatland Wiki
Jump to navigation Jump to search
Author:Laxman Burdak, IFS (R)

Panchajanya (पांचजन्य) was name of a forest, near Sarvaturka forest, mentioned in Mahabharata located in the east of Dwarka near Raivataka mountains.

Origin

Variants

History

पांचजन्य

विजयेन्द्र कुमार माथुर[1] ने लेख किया है ...पांचजन्य (AS, p.537) महाभारत के अनुसार द्वारका के पूर्व की ओर स्थित रैवतक नामक पर्वत के निकट पांचजन्य नामक वन सुशोभित था. इसी के पास सर्वतुर्क वन भी था. इन दोनों वनों को चित्रित वस्त्र की भांति रंग-बिरंगा कहा गया है- 'चित्रकंबल वर्णाभं पांचपांचजन्यवनं तथा सर्वतुर्क वनंचैव भाति रैवतकं प्रति' सभापर्व 38 (दक्षिणापथ्य पाठ)

External links

References