Vendha

From Jatland Wiki
(Redirected from Vinda)
Jump to navigation Jump to search

Vendha (वेंधा) Vinda (विंदा) is gotra of Jats[1] found in MP.

Origin

This gotra is said to be started from their Mahabharata period ancestor king Vinda (विन्द). [2]

History

Sabha Parva, Mahabharata/Book II Chapter 28 mentions Sahadeva's march towards the southern direction: kings and tribes defeated. Allying himself with the vanquished tribes the prince then marched towards the countries that lay on the banks of the Narmada. And defeating there in battle the two heroic kings of Avanti, called Vinda and Anuvinda. [3]

उज्जैन का राजनैतिक इतिहास काफी लम्बा रहा है. उज्जैन के गढ़ क्षेत्र से हुयी खुदाई में आद्यैतिहासिक (protohistoric ) एवं प्रारंभिक लोहयुगीन सामग्री प्रचुर मात्र में प्राप्त हुई है. पुरानों व महाभारत में उल्लेख आता है की वृष्णि-वीर कृष्ण व बलराम यहाँ गुरु सांदीपनी के आश्रम में विद्याप्राप्त करने हेतु आये थे. कृष्ण की एक पत्नी मित्रवृन्दा उज्जैन की ही राजकुमारी थी. उसके दो भाई विन्द एवं अनुविन्द महाभारत युद्ध में कौरवों की और से युद्ध करते हुए वीर गति को प्राप्त हुए थे.

उज्जैन के इतिहास का उपरोक्त विवरण स्पस्ट करता है कि विन्द अवन्ती या उज्जैन के राजा थे जो महाभारत में मारे गए. विन्द गोत्र की कम जन संख्या होने का यह कारण है.

Distribution in M P

Vinda (विंदा) Gotra Jats live in MP.

Villages in Bhopal district

Bhopal,

Notable persons

  • Narayan Prasad Vinda - Bhopal, Mob:9826489595[4]

See also

References

  1. O.S.Tugania:Jat Samuday ke Pramukh Adhar Bindu,p.60,s.n. 2300
  2. Mahendra Singh Arya et al.: Adhunik Jat Itihas, p. 268
  3. विन्दानुविन्दाव आवन्त्यौ सैन्येन महता वृतौ । जिगाय समरे वीराव आश्विनेयः परतापवान (Mahabharata:2.28.10)
  4. Jat Vaibhav Smarika Khategaon, 2010, p. 45

Back to Gotras