Rana Uday Singh

From Jatland Wiki
Jump to: navigation, search

Rana Uday Singh (राणा उदयसिंह) was Rana of Gohad (1588 - 1619), who succeeded Ram Chander

His successor

His successor was Bagh Raj (1619 - 1654).

राणा उदयसिंह (1588 - 1619)

राणा रतन सिंह की मृत्यु के बाद राणा उदयसिंह सन 1588 में गोहद की गद्दी पर बैठे. उनके प्रारंभिक में भारत में मुग़ल सम्राट अकबर का शासन था तथा अंतिम वर्षों में सम्राट जहांगीर का शासन था. राणा उदयसिंह की मृत्यु सन् 1619 में हुई.[1] उन्होंने गोहद दुर्ग में शीश महल बनवाया था. उस काल में भी गोहद खितौली मुहाल (गोहद के समीप) में सम्मिलित था, जो आगरा सरकार के अंतर्गत था. (Ojha, p.53)

सुजस प्रबंध में राजा उदय सिंह

सुजस प्रबंध (Sujas Prabandh) के रचनाकार कवि नथन इस काव्य के प्रारंभिक छंदों में कवि नथन ने गोहद के कई राजाओं का स्मरण किया है. पांचवें छन्द में राजा उदय सिंह का उल्लेख है. इसी वंश में राजा उदय सिंह पैदा हुए थे. उनसे यदुकुल वंश धन्य हो गया था. वह अति निडर, वीर और सबल भुजाओं वाले थे. उनके भय से शत्रु की माताओं के ह्रदय में डर पैदा होता था. उनको विश्वास था कि वह उनकी संतान को युद्ध में मार सकते हैं. उनके प्रति अन्य राजाओं के मन में भी दुःख था. सुलतान लोग भी उनको वीर मानते थे.

External links

References

  1. Jagaon Ki Pothi

Back to The Rulers