Jyak

From Jatland Wiki
Jump to: navigation, search
Location of Jyak or Jakh in Churu district

Jyak (ज्याक), is a village in Sujangarh tehsil of Churu district in Rajasthan.

Jat gotras

History

सन 1947 में भारत आजाद हो गया था। इससे सामंतो को उनकी जागीर ख़त्म होने का डर सताने लगा। उन्होंने किसानों पर दमन चक्र तेज कर दिया। जागीरदारों के पास हतियार थे और राज्य की सेवा से अधिक हथियार मिल गए थे। वे अब डाकू बन गए और जागीरदारों के इशारों पर गाँव के किसानों पर डाका डालने लगे।

सुजानगढ़ तहसील के ज्याक गाँव में ईशरराम गोदारा के घर डाका पड़ा। स्वाधीनता संग्राम के अमर सेनानी मानाराम बीडासर नि. भाषीणा के पिता पेमाराम बीडासर का डकैतों ने बाघसरा जागीरदार के इशारे पर अपहरण कर लिया। और मानाराम बीडासर को महीनों जयपुर में जाकर चौधरी कुम्भाराम आर्य के बंगले में छिपकर रहना पड़ा। डकैतों को जब बाघसरा के जागीरदार के मार्फत 500 रु. की फिरौती भेजी तभी 80 वर्ष के बूढ़े को छोड़ा गया।[1]

Geography

Jyak / Jakh is located at 27° 36' 00.00" North Latitude & 74° 01' 00.00" East Longitude.[2] It has an average elevation of 307 meters (1010 feet).

Notable person

External Links

References

  1. भीमसिंह आर्य:जुल्म की कहानी किसान की जबानी (2006),p.53
  2. Falling Rain Genomics, Inc - Jakh

Back to Jat Villages