Gaj Dudi

From Jatland Wiki
Jump to: navigation, search

Gaj Dudi (गाज डूडी) was a Jat ruler of Jangladesh region in Rajasthan prior to formation of Bikaner princely state of Rathores.

Founder of Gajsar

Gajsar (गाजसर) village in Churu tehsil of Churu district of Rajasthan was founded by Gaj Dudi (12th Century).

History

चूरू के उत्तर की तरफ पास में ही गाजसर नामक गाँव बसा हुआ है। यह गाँव भालेरी - चूरू सड़क मार्ग पर बसा है। इसको डूडी जाटों ने बसाया था। इसके संस्थापक गजा डूडी थे। इनके नाम से गाँव का नाम गाजसर पड़ा। गजा और सहजा दो भाई थे। सहजा ने सहजूसर गाँव बसाया। गजा डूडी के एक लड़की थी, जिसका नाम आभलदे था। एक दिन सुबह के समय आभलदे कुएं से सर पर दोघड़ लेकर आ रही थी। रास्ते में एक सांड और झोटा लड़ रहे थे। तभी एक बारात उधर से आई। वह बारात सांड और झोटा की लड़ाई देखकर रुक गयी। आभलदे ने सर पर रखे दोघड़ सहित ही सांड और झोटे को अलग कर दिया। इस पर बारातियों ने कहा - इस युवती से पैदा होने वाला बच्चा अवश्य वीर होगा। आभलदे की शादी मंगल सारण शायद भाडंग (तारानगर) गाँव में हुई थी। गाजसर गाँव के सात बास थे। यहाँ एक बड़ा गढ़ बताते हैं जो अब नष्ट हो गया है। यह गाँव चूरू से पहले का बसा हुआ है। यह लगभग 625 विक्रम संवत (568 ई.) पूर्व का है। बडवा के अनुसार डूडीयों का निकास गाजसर से होना बताया है। [1]


References

  1. Laxman Ram Mahla - Uddeshya: Sarv Samaj Baudhik evam Pratibha Samman Samaroh Churu, Smarika, June 2013, by Jat Kirti Sansthan Churu,p.189

Back to The Rulers