Jakhaudiya

From Jatland Wiki
Jump to navigation Jump to search

Jakhaudiya Tomar (जाखौदिया तोमर(तंवर) ) Jakhaudia (जाखौदिया) Jakhodia (जखौदिया) is gotra of Jats found around Delhi and Madhya Pradesh.

Origin

This gotra originated from place name Jakhod (जाखौद).जाखौदिया गोत्र नहीं होता है इनका गोत्र तोमर है तोमर(तंवर ) जाट के आसपास जब दिल्ली के जाखौद गॉव से आकर भरतपुर के छोंकरवाड़ा गाव में बसे तो यहां के स्थानीय निवासयो ने इनको इनके पैतृक गाँव जाखौद के नाम पर जखोदिया कहना शुरू कर दिया . पुरे भारतवर्ष में यह एक मात्र गाँव है जाखौदिया तंवर जाटों का और किस जगह पर यदि कोई जाखौदिया तोमर निवास करते है तो वो मूल रूप से छोंकरवाड़ा से गए हुए है । दिल्ली पर तोमर जाटों का राज्य रहा है उनको ही तंवर बोला जाता है दोनों एक ही गोत्र है जाखौद गांव को एक महाराजा अनंगपाल तोमर के सात बेटे के द्वारा स्थापित किया गया था । दिल्ली में तोमर जाटों के बहुत से गाव थे जो दिल्ली से कुछ मुज़्ज़फरनगर जिले के बलेड़ा ,बहादरपुर जैसे गावो में जा बसे ।

History

Jakhaud village was founded by one of seven sons of Maharaja Anangpal Singh Tomar.[1]Jakhaudiya consider themself as Tanwar gotra Jat in Chhonkarwara Khurd ,Salempur Khurd in Bharatpur.

Distribution in Madhya Pradesh

Villages in Gwalior District

Ratwai,

Notable persons

  • Siyaram Jakhaudia - from village Chhonkarwad.
  • Dr Uday Singh Rana (Jakhodia) - From Ratwai (Gwalior).Morar (Gwalior).[2]
  • Rinku Singh --सामाजिक कार्यकर्त्ता युवा नेता
  • हरवान सिंह जाट --

External links

References

  1. Dr Mahendra Singh Arya, Dharmpal Singh Dudee, Kishan Singh Faujdar & Vijendra Singh Narwar: Ādhunik Jat Itihasa (The modern history of Jats), Agra 1998, Section X, p. 20
  2. Jat-Veer Smarika, Gwalior, 1987-88,p.126,s.n.145

Back to Jat Gotras