Barwasi

From Jatland Wiki
Jump to: navigation, search
Location of Barwasi in Jhunjhunu district

Barwasi (बड़वासी) or Badwasi (बड़वासी) is a village in tehsil Nawalgarh of Jhunjhunu district in Rajasthan.

Location

Jat Gotras

History

Ammanula Khan was Kaimkhani Nawab of Barwasi.

किसान आन्दोलन का दमन

किसान आन्दोलन के दमन का सबसे भयंकर दृश्य शेखावाटी में था. जहाँ किसानों पर घोड़े दौडाए गए और जगह-जगह लाठी चार्ज हुआ. झुंझुनूं में 1 से 4 फ़रवरी 1939 तक एकदम अराजकता थी. पहली फ़रवरी को पंचायत के 6 जत्थे निकले, जिसमें तीस आदमी थे. इनको बुरी तरह पीटा गया. दो सौ करीब मीणे और करीब एक सौ पुलिस सिपाहियों ने जो कि देवी सिंह की कमांड में घूम रहे थे, लोगों को लाठियों और जूतों से बेरहमी से पीटा. जत्थे के नायक राम सिंह बडवासीइन्द्राज को तो इतना पीटा कि वे लहूलुहान हो गए. रेख सिंह (सरदार हरलाल सिंह के भाई) को तो नंगा सर करके जूतों से इतना पीटा कि वह बेहोश हो गए. उनकी तो गर्दन ही तोड़ दी. चौधरी घासी राम, थाना राम भोजासर, ओंकार सिंह हनुमानपुरा, मास्टर लक्ष्मी चंद आर्य और गुमान सिंह मांडासी की निर्मम पिटाई की. इन दिनों जो भी किसान झुंझुनू आया उसको सिपाहियों ने पीटा. यहाँ तक कि घी, दूध बेचने आने वाले लोगों को भी पीटा गया. [1]


ठिकानेदारों द्वारा 4 फ़रवरी 1939 को गाँवों में भारी दमन किया गया . ककोड़ा गाँव में तो इस्माइलपुर के ठाकुर के भाई गंगा सिंह, जो कि फरार था, के निर्देशन में ठिकाने के आदमियों ने जोरदार लूट व मारपीट की. कई लोगों को भारी चोटें आईं जिसमें रामदत्त की माँ स्वरूपा तो अस्पताल में मर गयी. बडवासी में 4 फ़रवरी 1939 को कुछ किसानों को पकड़ लिया गया और नवलगढ़ की गढ़ी में काठ में दे दिया गया. 7 फरवरी को इसी गाँव से 15 आदमियों को ठिकाने के नौकर पकड़ लाये जिन्हें नवलगढ़ में खूब मारा-पीटा और बेइज्जत किया. रिजाणी गाँव में भी खूब मारपीट हुई. नवलगढ़ के कामदार हेम सिंह ने मुरादपुर के किसानों को बुलाकर पीटा. पातूसरी गाँव में तो लूट-खसोट का इतने जोरों का प्रदर्शन किया गया कि बहुत से किसान गाँव छोड़ कर भाग गए. नवलगढ़ ठिकाने की और से वायदापुरा में भी जबरदस्त मारपीट की गयी. [2]

Notable persons

Population

References

  1. (डॉ पेमाराम, शेखावाटी किसान आन्दोलन का इतिहास, 1990, p. 167)
  2. (डॉ पेमाराम, शेखावाटी किसान आन्दोलन का इतिहास, 1990, p. 169)
  3. http://www.swamikeshwanand.com/Donors%20List.aspx sn 401

External links


Back to Jat Villages