Jat History Dalip Singh Ahlawat/References and Donors

From Jatland Wiki
Jump to navigation Jump to search


मुख्य पृष्ठ और विषय सूची पर वापस जायें
«« पिछले भाग (परिशिष्ट-2) पर जायें


जाट वीरों का इतिहास
लेखक - कैप्टन दलीप सिंह अहलावत
This chapter was converted into Unicode by Dayanand Deswal
संदर्भ स्रोतों की सूची एवं दानकर्ताओं की सूची

उन स्रोतों की सूची जिनका गहन विश्लेषण व अध्ययन करके यह पुस्तक लिखी गई है

  1. ऋग्वेद, यजुर्वेद, अथर्ववेद।
  2. ऋग्वेदादिभाष्यभूमिका (लेखक - महर्षि दयानन्द सरस्वती)
  3. सत्यार्थप्रकाश (लेखक - महर्षि दयानन्द सरस्वती)
  4. पूना प्रवचन (उपदेश मंजरी), स्वामी दयानन्द सरस्वती के पन्द्रह व्याख्यान, संपादक डॉ० भवानीलाल भारतीय।
  5. मनुस्मृति अनुसंधानकर्ता एवं भाष्यकार प्रो० सुरेन्द्रकुमार।
  6. श्रीमद् वाल्मीकीय रामायण, प्रथम एवं द्वितीय भाग(गीताप्रेस, गोरखपुर)।
  7. महाभारत पूरा (छः खण्ड) अनुवादक पण्डित रामनारायण दत्त शास्त्री पाण्डेय 'राम' प्रकाशक गीताप्रेस गोरखपुर।
  8. विष्णुपुराण, भागवत पुराण, अग्नि पुराण, मार्कण्डेय पुराण, वायु पुराण।
  9. हरयाणे के वीर यौधेय (प्रथम खण्ड) लेखक - श्री भगवान् देव आचार्य
  10. वीरभूमि हरयाणा (नाम और सीमा) लेखक - श्री भगवान् देव आचार्य
  11. सुधारक - बलिदान विशेषांक - लेखक श्री भगवान् देव आचार्य
  12. राजस्थान का इतिहास इंग्लिश वाल्यूम 1, 2, 3 - लेखक कर्नल जेम्स टॉड। तथा हिन्दी अनुवाद
  13. हिस्ट्री ऑफ दी जाट्स लेखक डॉ कालिकारंजन कानूनगो
  14. जाट इतिहास, लेखक ठाकुर देशराज
  15. जाट इतिहास (उत्पत्ति तथा गौरव खण्ड) लेखक ठाकुर देशराज
  16. भारत में जाट राज्य या जाट क्षत्रिय इतिहास, उर्दू भाषा, लेखक कविराज योगेन्द्रपाल शास्त्री।
  17. क्षत्रिय जातियों का उत्थान, पतन एवं जाटों का उत्कर्ष - लेखक कविराज योगेन्द्रपाल शास्त्री।
  18. वैदिक सम्पत्ति - लेखक पं० रघुनन्दन शर्मा साहित्यभूषण
  19. जाट इतिहास - लेखक लेफ्टिनेंट रामसरूप जून, हिन्दी एवं अंग्रेजी अनुवाद।
  20. जाटों का नवीन इतिहास - लेखक उपेन्द्रनाथ शर्मा
  21. भारतवर्ष का वृहद् इतिहास - लेखक पण्डित भगवद्दत्त बी० ए०।
  22. भारतवर्ष का शुद्ध इतिहास प्राचीन भारत (भाग 1) प्रधान सम्पादक आचार्य प्रेमभिक्षु वानप्रस्थ।
  23. जाट इतिहास लेखक जाटराष्ट्रगुरु श्रीमद्दाचार्य श्रीनिवासाचार्य महाराज।
  24. क्षत्रियों का इतिहास प्रथम भाग, लेखन श्री परमेश शर्मा तथा राजपालसिंह शास्त्री।
  25. जाट्स दी एन्शेन्ट् रूलर्ज लेखक भीमसिंह दहिया आई. आर. एस.
  26. अन्टिक्विटी ऑफ जाट रेस बाई उजागर सिंह माहिल।
  27. हैण्डबुक ऑफ जाट्स, गुजर्स एण्ड अहीर्स, बाई मजर ए० एच० बिगले।
  28. दी पोलिटिकल सिस्टम ऑफ दी जाट्स ऑफ नार्दर्न इण्डिया, लेखक महेशचन्द्र प्रधान।
  29. इतिहास सर्वखाप पंचायत (बलियाण खाप) पहला भाग, लेखक - चौ० कबूलसिंह मन्त्री सर्वखाप पंचायत
  30. तारीख हिन्दुस्तान उर्दू भाषा।
  31. तारीख मेव उर्दू, लेखक डा० अजमल खान व मौलवी अब्दुल शकूर।
  32. राजस्थान के राजवंशों का इतिहास, लेखक जगदीशसिंह गहलोत।
  33. राज्य भरतपुर का संक्षिप्त इतिहास, लेखक चौबे राधारमण सिक्त्तर।
  34. महाराजा सूरजमल अंग्रेजी तथा हिन्दी लेखक कु० नटवरसिंह
  35. महाराजा सूरजमल, लेखक बलवीरसिंह, एम.ए. पी.एच.डी.।
  36. महाराजा सूरजमल और उनका युग, लेखक डा० प्रकाशचन्द्र चान्दावत।
  37. भरतपुर महाराजा जवाहरसिंह जाट - लेखक मनोहरसिंह राणावत एम०ए०।
  38. भारत का इतिहास सरल अध्ययन, लेखक प्रो० मिथिलेशचन्द उपाध्याय एम.ए.।
  39. भारत का इतिहास (प्री-यूनिवर्सिटी कक्षा के लिए) लेखक अविनाशचन्द्र अरोड़ा।
  40. भारत का इतिहास हरयाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड, भिवानी।
  41. हरयाणा सर्वखाप पंचायत के प्राचीन ऐतिहासिक रेकार्डस्, (चौ० कबूलसिंह मन्त्री सर्वखाप पंचायत, ग्राम शोरम जि० मुजफ्फरनगर के घर पर)।
  42. बिड़ला मन्दिर देहली के शिलालेख एवं मूर्तियां।
  43. जाट बलवान - जाट रेजीमेंट की वीर गाथा (1803 से 1972 तक), लेखक लेफ्टिनेंट कर्नल गौतम शर्मा॥
  44. सिक्खों का इतिहास लेखक कप्तान जोजेफ डेवी कन्निंघम।
  45. जय यौधेय - लेखक राहुल सांकृत्यायन।
  46. वोल्गा से गंगा - लेखक राहुल सांकृत्यायन।
  47. मध्य एशिया तथा चीन में भारतीय संस्कृति - लेखक सत्यकेतु विद्यालंकार डी० लिट० (पेरिस)।
  48. डिस्कवरी ऑफ इंडिया - ले० जवाहरलाल नेहरू।
  49. आर्यों का प्राचीन गौरव - लेखक श्री पण्डित कालीचरण शर्मा।
  50. इंग्लैंड का इतिहास (प्रश्नोत्तर में) - लेखक प्रो० विशनदास एम.ए.।
  51. ए० हिस्ट्री ऑफ ब्रिटेन (इंग्लिश), बाई रामकुमार लूथरा एम.ए.।
  52. दी डिक्लाइन एण्ड फॉल ऑफ दी रोमन एम्पायर बाई एडवर्ड गिब्बन।
  53. गुर्जर वीर गाथा, लेखक रतनलाल वर्मा।
  54. हरयाणा ए हिस्टोरिक्ल परस्पेक्टिव बाई सतीशचन्द्र मित्तल।
  55. ए फ्यू पेज्स फ्रोम दी हिस्ट्री ऑफ हरयाणा, बाई भीमसेन त्यागी।
  56. पचास कुलीन क्षत्रिय वंशों का संक्षिप्त इतिहास, लेखक ठा० कुन्दनसिंह कुश सहारनपुरी।
  57. जाट प्रश्नोत्तरी, संकलनकर्त्ता निरंजनसिंह चौधरी।
  58. जाट इतिहास - संपादक निरंजनसिंह चौधरी, जाट हितकारी प्रकाशन, गोपीनाथ बाजार, वृन्दावन
  59. प्रथम विश्व युवा जाट सम्मेलन-स्मारिका कंझावला (प्रान्त दिल्ली), 4-5 अक्तूबर 1986 ।
  60. मध्यकालीन भारत का संक्षिप्त इतिहास लेखक ईश्वरीप्रसाद, एम.ए. एल.एल.बी., डी.लिट् ।
  61. गुर्जर वीर वीरांगनाएं - लेखक श्री गणपति सिंह।
  62. 1857 के गुर्जर शहीद - लेखक प्रिं गणपति सिंह।
  63. हरिसिंह नलवा - लेखक सन्तराम, बी.ए.।
  64. जाट महान् - लेखक चौधरी श्री महेन्द्र कुमार शास्त्री।
  65. गौरव-गाथा (प्रथम पुष्प) - लेखक - डा० नत्थनसिंह
  66. गौरव-गाथा (द्वितीय पुष्प) राजा मानसिंह, लेखक पुष्करसिंह (स्वतंत्रता सेनानी)।
  67. इतिहास-पुरुष महाराजा सूरजमल, लेखक नत्थनसिंह एम.ए. पी.एच.डी.
  68. आर्यों का आदि देश, लेखक स्वामी विद्यानन्द सरस्वती।
  69. गौरव-गाथा (तृतीय पुष्प) - लेखक - डा० नत्थनसिंह
  70. हरयाणा का इतिहास (1803-1966) भाग-3, लेखक के० सी० यादव।
  71. स्वाधीनता संग्राम और हरयाणा, लेखक देवीशंकर प्रभाकर।
  72. हरयाणा के आर्यसमाज का इतिहास, लेखक डा० रणजीतसिंह प्रिंसिपल।
  73. जगदेवसिंह सिद्धान्ती अभिनन्दन ग्रंथ - संपादक रघुवीर शास्त्री
  74. अलखपुरा से कलकत्ता - दानवीर सेठ चौधरी छाजूराम जीवन चरित। लेखक - प्रतापसिंह शास्त्री।
  75. चौधरी छोटूराम जीवन-चरित - लेखक रघुवीरसिंह शास्त्री।
  76. दीनबंधु चौधरी सर छोटूराम जीवन-चरित, लेखक प्रो० हरीसिंह, खेड़ी जट, रोहतक (हरयाणा)।
  77. चौधरी छोटूराम - बेचारा किसान । लेखक के.सी. यादव।
  78. चौधरी चरणसिंह व्यक्तित्व एवं विचारधारा। लेखक डा. के.एस. राणा।
  79. प्रोफाइल ऑफ चौधरी चरणसिंह, लेखक प्रो. सुखबीरसिंह गोयल।
  80. मैन ऑफ दि मासिज चौधरी चरणसिंह - लेखक आर० के० हुड्डा।
  81. चौटाला से चण्डीगढ (किसान नेता चौ० देवीलाल की संघर्षभरी जीवन कहानी) लेखक डा० राजाराम।
  82. हरयाणा ऑन हाई रोड टू प्रॉसपेरिटी, लेखक मुनीलाल।
  83. गुरुकुल झज्जर संग्रहालय
  84. समाचार पत्र।
  85. इण्डिया एण्ड रशिया, लिंगुइस्टिक एण्ड कल्चरल अफीनिटी, लेखक डब्ल्यू. आर. ऋषि।

जाट वीरों का इतिहास: दलीप सिंह अहलावत, पृष्ठान्त-1065, 1066, 1067



कुशल उद्योगपति श्री चेतीलाल वर्मा

Cheti Lal Verma

विशेषताएं - चौ० चेतीलाल वर्मा जी बड़े बुद्धिमान्, विद्वान्, कर्मयोगी, ईमानदार, सादगी पसन्द, निपुण कार्यकर्त्ता, चरित्रवान्, समाज सेवक, उदार हृदय, स्वाभिमानी, दयालु तथा उच्चकोटि के मनुष्य हैं।

जाट वीरों का इतिहास का यह द्वितीय संस्करण आप द्वारा दान दिए गए एक लाख रुपये की धनराशि एवं सहयोग से प्रकाशित हुआ है। इस सहायता के लिए जाटजगत् तथा हमारे मित्रगण आपके बड़े आभारी हैं।

चौ० चेतीलाल वर्मा जी का जन्म 2 जून 1921 को ग्राम छज्जुनगर, तहसील पलवल जिला फरीदाबाद में हुआ। आपके पिता जी का नाम चौ० हीरालाल जैलदार था, जो कि चौहान जाट गोत्र के साधारण किसान थे। यह चौहान जाट गोत्र वत्स/बत्स जाट गोत्र का शाखा गोत्र है जो कि महाभारत के युद्ध में पाण्डवों की ओर होकर लड़े थे (अधिक जानकारी के लिए देखो जाट वीरों का इतिहास पृ० 294)। इस चौहान जाट गोत्र के शाखा गोत्र हुड्डा, लौरा, भयाण एवं जागलान आदि जाट गोत्र हैं। चौहान जाट गोत्र जिन्होंने पौराणिक सिद्धान्त को अपना लिया वे चौहान राजपूत कहलाते हैं।

आपने द्वितीय महायुद्ध के दौरान एक सैनिक के रूप में सेवा की। आपने अपने देश के लिए अंग्रेजों की कूटनीति का डटकर विरोध किया जिस पर अंग्रेज सैनिक अफसरों ने यह दोष लगाया कि ब्रिटिश शाही ताज का विरोध तथा बगावत की है। इस अपराध के कारण फलस्वरूप आपका फौजी अदालत (Court Martial) में मुकद्दमा चलाया गया। परन्तु ईश्वर की कृपा से आप मृत्युदण्ड से बच गए और नाम कटाकर घर आ गए। यह आपकी देशभक्ति का उज्जवल उदाहरण है।

चौ० चेतीलाल वर्मा जी अपने दृढ़ निश्चय, योग्यता, परिश्रम अथवा व्यावसायिक कुशलता से एक प्रमुख उद्योगपति बन गए हैं। सामाजिक, धार्मिक और शैक्षिक संस्थानों में रुचि रखना आपके स्वभाव का विशेष गुण है जिसका पूर्ण रूप से विवरण करना असम्भव है। यदि किसी की सहायता कर पाएं तो उन्हें उससे स्वाभाविक प्रसन्नता प्राप्त होती है।

आपकी धर्मपत्नी का नाम श्रीमती उर्मिला देवी वर्मा है जिन्होंने सौभाग्यवती पुष्पा तथा सुचेता नामक दो कन्याओं तथा सर्वश्री चन्द्र वर्मा, अशोक वर्मा, विजय वर्मा तथा मोहिन्द्र वर्मा नामक चार पुत्रों को जन्म दिया है।

इस समय देश विदेशों में चौ० चेतीलाल वर्मा जी का कारोबार सुचारु रूप से चल रहा है। निम्नलिखित औद्योगिक संस्थानों के आप सभापति एवं प्रबन्धकर्त्ता अधिकारी हैं। जिनके कार्यालय नई दिल्ली, बम्बई, कलकत्ता, बगदाद और ट्रिपोली आदि में स्थापित हैं-

  1. कॉन्टीनेन्टल कन्सट्रक्शन लि०
  2. कॉन्टीनेन्टल शिपिंग लि०
  3. कॉन्टीनेन्टल पेपर्स लि०
  4. कॉन्टीनेन्टल टेक्सटाइल मिल्स लि०
  5. कॉन्टीनेन्टल फलोट ग्लास लि०
  6. पकविक इनवेस्टमेन्ट लि०
  7. पंजाब सिरेमिक्स लि०
  8. चौहान एग्रीकल्चरल फार्म लि०

आपने इन औद्योगिक संस्थानों द्वारा देश-विदेशों में बड़े-बड़े निर्माण करके बड़ी प्रसिद्धि प्राप्त की है।

औद्योगिक कारोबार में व्यस्त रहते हुए भी वर्मा जी की रुचि खेती व ग्रामीण संस्थानों में रहती है। उनके खेती-बाड़ी के दो फार्म भी हैं जिनकी देखभाल वह और उनकी धर्मपत्नी स्वयं करते हैं।

हमारी ईश्वर से हार्दिक प्रार्थना है कि आप चहुंमुखी उन्नति करें और स्वस्थ रहते हुए दीर्घायु प्राप्त करें।

जाट वीरों का इतिहास के द्वितीय संस्करण के प्रकाशन हेतु स्वेच्छा से आर्थिक सहायता करने वाले वीर सज्जनों की सूची

क्रमांक नाम व पता रुपये
1 कुशल उद्योगपति चौ० चेतीलाल वर्मा सभापति एवं अध्यक्ष कॉन्टीनेन्टल कन्सट्रक्शन लि० ग्राम छज्जुनगर, तहसील पलवल, जि० फरीदाबाद। 1,00000
2 चौ० के० पी० सिंह प्रबन्धकर्त्ता अधिकारी एवं अध्यक्ष डी० एल० एफ० विश्व सम्बन्धी लि० नई दिल्ली। 21,000
3 चौ० सूरजमल जून एम० एल० ए० बहादुरगढ़ जिला रोहतक 5,100
4 डा० योगेन्द्रसिंह बलहारा सुपुत्र तहसीलदार हरसरूप बलहारा गांव व डाकघर बहू अकबरपुर जि० रोहतक 2,100
5 चौ० अनूपसिंह नरवाल सुपुत्र चौधरी गिरधाला नरवाल गांव व डाकघर कथूरा जि० रोहतक 1,100



इति


मुख्य पृष्ठ और विषय सूची पर वापस जायें
«« पिछले भाग (परिशिष्ट-2) पर जायें