Raja Karam Singh of Jind

From Jatland Wiki
Jump to: navigation, search

Raja Karam Singh (b.-d.1818) was Jat Ruler of of Jind.

Raja Karam Singh of Jind

जींद राज्य का वंश-वृक्ष

राजा करमसिंह (b.-d.1818) पटियाला-स्टेट एवं जींद-स्टेट दोनों राजवंश के पुरखा चौधरी फूल की छटवीं पीढ़ी में सिद्धू गोत्र का जाट था। वह राजा भूपसिंह का पुत्र था। जाट इतिहास:ठाकुर देशराज से इनका इतिहास नीचे दिया जा रहा है।


चौधरी फूल के बड़े लड़के तिलोका के दो पुत्र हुए- गुरुदत्तसिंह और सुखचैन। बड़े भाई गुरुदत्तसिंह के वंशज नाभा-स्टेट और छोटे भाई सुखचैन के रियासत जींद, सरदार बड़रूखांबाजेदपुर थे।


तिलोका का दूसरा बेटा सुखचैन जिसके वंशज जींद स्टेट के राजगान थे, एक जमींदार की हैसियत से था। सुखचैन का विशेष इतिहास नहीं मिलता। इसके तीन लड़के थे - आलमसिंह, गजपतसिंह और बुलाकीसिंह। आलमसिंह से इस स्टेट का इतिहास पूरा मिलता है।

राजा गजपतसिंह के बाद जींद रियासत भागसिंह और भूपसिंह दोनों भाइयों में बंट गई। भूपसिंह को बड़रूखां का इलाका मिला और भागसिंह को इलाका जींद और सफेदों का। चूंकि भागसिंह बड़ा लड़का था, इसलिए अधिक प्रदेश और राजा के खिताब का वही अधिकारी हुआ। (जाट इतिहास:ठाकुर देशराज, पृष्ठ-479-80)


सरदार भूपसिंह जींद के राजा गजपतसिंह का तीसरा बेटा था। वह एक बहादुर व्यक्ति था परन्तु राजनैतिक चालों का उसमें अभाव था, इसी कारण उसने रियासत के प्रबन्ध के बदले उसे बढ़ाया। राजा भागसिंह को अपने पिता के पश्चात् रियासत जींद मिली और भूपसिंह को परगना तालेदपुर और बुडरूखां मिला।

External links

References=


Back to The Rulers