Sanwarmal Bhamu

From Jatland Wiki
Jump to: navigation, search
Shahid Sanwar Mal Bhamu Tibaria Phulera

Sanwarmal Bhamu (34), from Tibariya, Phulera, Jaipur, became a martyr of Militancy in Udhampur, Jammu and Kashmir on 12 April 2017. He was Havaldar in 20 Jat Regiment.

जीवन परिचय

शहीद सांवरमल भामू, गांव - तिबारिया, (जयपुर) । 12 अप्रैल 2017 को ऊधमपुर, जम्मू एवम् कश्मीर में आतंकियों से लड़ते हुए वीरगति को प्राप्त हुए । राजधानी जयपुर के सपूत और कश्मीर में शहीद हुए हवलदार सांवरमल भामू का राजकीय सम्मान के साथ 14 अप्रैल 2017 को अंतिम संस्कार हुआ । भामू को अंतिम विदाई देने के लिए उनके पैतृक गांव टिबरिया में बडी संख्या में लोग उपस्थित रहे । सांवरमल भामू के पुत्र अनिल ने अपने पिता को मुखाग्नि दी । शहीद सांवरमल भामू सेना की 20 जाट रेजीमेंट में हवलदार थे और कालवाड़ के पास टिबरिया गांव के रहने वाले थे ।

भामू इन दिनों जम्मू-कश्मीर के दुर्गम क्षेत्र में तैनात थे, जहां 12 अप्रैल को उधमपुर में आतंकियों के साथ हुई मुठभेड़ में भामू शहीद हो गए थे, जिसके बाद 13 अप्रैल को उधमपुर के सैनिक अस्पताल में सांवरमल का पोस्टमार्टम हुआ था । टिबरिया गांव में आधा दर्जन से अधिक युवा सेना में विभिन्न पदों पर अपनी सेवाएं दे रहे हैं और जब आज शहीद की पार्थिव देह गांव पहुंची तो गांव में शहीद के अमर रहने और भारत माता की जय के जयकारे गूंज उठे ।


जयपुर के फुलेरा तहसील के तिबारिया गाँव के जाट रेजीमेंट के लांसनायक सांवरमल भामू (34) पाकिस्तान सीमा पर शहीद हो गए। वे जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा में 9000 फीट से अधिक ऊंचाई वाले स्थान पर हाई आल्टीट्यूड और ओपरेशनल एरिया में तैनात थे। तैनाती के दौरान उनकी तबीयत खराब हुई जिसके चलते उन्हें पास के सैन्य अस्पताल में भर्ती कराया। हालत गंभीर होने पर हेलिकॉप्टर से ऊधमपुर कमांड अस्पताल शिफ्ट किया गया था। वहाँ वे शहीद हो गए। शहीद को गाँव में राजकीय सम्मान के साथ सेना की टुकड़ी ने गार्ड दी। [1]

Photo Gallery

External Links

References

  1. Jat Gatha, 5/2017,p. 5

Back to The Brave People / The Martyrs