Kanyakumari

From Jatland Wiki
Jump to navigation Jump to search
Author:Laxman Burdak, IFS (R)

Kanyakumari (कन्याकुमारी) is a city and district in the Indian State of Tamil Nadu. It is the southernmost city of peninsular/contiguous India. Kanyakumari has been a city since the Sangam period.[1][2]

Origin

The place derives its name from the goddess Devi Kanya Kumari, considered to be the sister of Krishna, a goddess is believed to remove the rigidity from the mind, to whom women pray for marriage. In 1656, the Dutch East India company conquered Portuguese Ceylon from the Portuguese, and the name eventually corrupted to "Comorin" and was called Cape Comorin during British rule in India. The city was later renamed Kanyakumari by the Government of India and the Government of Madras.

Variants

History

कन्याकुमारी

कन्याकुमारी तमिलनाडु राज्य का एक शहर है। भारत के मस्तक पर मुकुट के समान सजे हिमालय के धवल शिखरों को निकट से देखने के बाद हर सैलानी के मन में भारतभूमि के अंतिम छोर को देखने की इच्छा भी उभरने लगती है। भारत भूमि के सबसे दक्षिण बिंदु पर स्थित कन्याकुमारी केवल एक नगर ही नहीं बल्कि देशी विदेशी सैलानियों का एक बड़ा पर्यटन स्थल भी है। देश के मानचित्र के अंतिम छोर पर होने के कारण अधिकांश लोग इसे देख लेने की इच्छा रखते हैं।

कन्याकुमारी दक्षिण भारत के महान् शासकों चोल, चेर, पांड्य के अधीन रहा है। यहां के स्मारकों पर इन शासकों की छाप स्पष्ट दिखाई देती है। यह स्थान एक खाड़ी, एक सागर और एक महासागर का मिलन बिंदु है। अपार जलराशि से घिरे इस स्थल के पूर्व में बंगाल की खाड़ी, पश्चिम में अरब सागर एवं दक्षिण में हिंद महासागर है। यहाँ आकर हर व्यक्ति को प्रकृति के अनंत स्वरूप के दर्शन होते हैं। सागर-त्रय के संगम की इस दिव्यभूमि पर माँ भगवती देवी कुमारी के रूप में विद्यमान हैं। इस पवित्र स्थान को 'एलेक्जेंड्रिया ऑफ़ ईस्ट' की उपमा से विदेशी सैलानियों ने नवाज़ा है। यहाँ पहुंच कर लगता है मानो पूर्व में सभ्यता की शुरुआत यहीं से हुई होगी। अंग्रेज़ों ने इस स्थल को 'केप कोमोरिन' कहा था। तिरुअनंतपुरम के बेहद निकट होने के कारण सामान्यत: समझा जाता है कि यह शहर केरल राज्य में स्थित है, लेकिन कन्याकुमारी वास्तव में तमिलनाडु राज्य का एक ख़ास पर्यटन स्थल है।

संदर्भ: भारतकोश-कन्याकुमारी

कन्यातीर्थ

विजयेन्द्र कुमार माथुर[3] ने लेख किया है ... कन्यातीर्थ (p.131) 'ततस्तीरे समुद्रस्य कन्यातीर्थमुपस्पृशेत् तत्रोपस्पृश्य राजेन्द्र सर्वपापै: प्रमुच्यते।' (वन पर्व महाभारत 85,23) कन्यातीर्थ सुदूर दक्षिण में समुद्र तट पर स्थित कन्याकुमारी का ही नाम है। पद्मपुराण (38,23) में भी कन्यातीर्थ का उल्लेख है। कन्यातीर्थ का प्राचीन कुमारीदेवी का मंदिर उल्लेखनीय है। पौराणिक कथा के अनुसार कुमारी-देवी ने शिव की आराधना इस स्थान पर की थी। बाणासुर दैत्य को भी कुमारी ने इसी स्थान पर मारा था। कन्याकुमारी दक्षिण भारत के प्रायद्वीप की नोंक पर स्थित है, यहाँ एक ओर से बंगाल की खाड़ी का और दूसरी ओर से अरब सागर का जल हिंद महासागर से मिलता है। (देखें:- कन्याकुमारी)

External links

References

  1. Kanakasabhai, V (1997). The Tamils Eighteen Hundred Years Ago. Asian Educational Services. p. 10. ISBN 8120601505.
  2. Abraham, Shinu (2003). "Chera, Chola, Pandya: using archaeological evidence to identify the Tamil kingdoms of early historic South India". Asian Perspectives. 42.
  3. Aitihasik Sthanavali by Vijayendra Kumar Mathur, p.131