Master Dalel Singh

From Jatland Wiki
Jump to: navigation, search

Master Dalel Singh was follower of Arya Samaj and working as teacher in Sikar district before independence. He was from Aligarh, Uttar Pradesh.


रणमल सिंह[1] लिखते हैं कि 12 वर्ष की उम्र में 1935 में मैं मेरे गाँव में नीम की ढाणी में चल रहे विद्यालय में पढ़ने के लिए गया। स्कूल का संचालन मास्टर दलेलसिंह जी जिला अलीगढ़ (उत्तर प्रदेश) कर रहे थे। वे आर्य समाज की ओर से शिक्षा प्रसार के लिए आए हुये थे।


[पृष्ठ-116]: कूदन गोलीकांड (24 अप्रेल 1935) के एक सप्ताह बाद पुलिस हमारी नीम की ढाणी वाली स्कूल में आई और देखते ही देखते हमारी पाठशाला के छप्पर को आग लगादी। हमारे अध्यापक श्री दलेल सिंहजी को हमारे सामने ही बेंत से पीटा और गिरफ्तार करके ले गए। पाठशाला के बड़े लड़कों को भी बेंतों से पीटा और मैं छोटा था इसलिए मेरे हिस्से में थप्पड़ों से पिटाई आई। इस प्रकार संघर्ष और आतंक के माहौल में मेरी शिक्षा प्रारम्भ हुई।

References

  1. रणमल सिंह के जीवन पर प्रकाशित पुस्तक - 'शताब्दी पुरुष - रणबंका रणमल सिंह' द्वितीय संस्करण 2015, ISBN 978-81-89681-74-0, पृष्ठ 115-116

Back to The Freedom Fighters