Gayatri Devi

From Jatland Wiki
Jump to navigation Jump to search
Gayatri Devi with Chaudhary Charan Singh

Gayatri Devi (गायत्री देवी) (b: 1905) was a former Member of Parliament from Uttar Pradesh state. She was the wife of former Prime Minister of India, Chaudhary Charan Singh

Career in Politics

Gayatri Devi (गायत्री देवी) was elected Member of Legislative Assembly of Uttar Pradesh in 1969 from Iglas, a seat contested under the aegis of Bharatiya Kranti Dal, the political party founded by her husband, Chaudhary Charan Singh. Later, she was also elected MLA from Gokul (distt. Mathura) constituency.

In 1980, Gayatri Devi was elected Member of Parliament from Kairana Lok Sabha Constituency. This election was contested under the banner of Janta Party (Secular), a political party which was also founded by Chaudhary Charan Singh. [1]

गायत्री देवी का जीवन परिचय

हरयाणा प्रान्त के जिला सोनीपत में ग्राम कुण्डलगढ़ी में एक प्रतिष्ठित जटराणा गोत्र के जाट परिवार में चौ० गंगारामजी की पुत्री गायत्री देवी के साथ, 4 जून 1925 को, जब वह एम० ए० की परीक्षा उत्तीर्ण कर चुके थे, चौ० चरणसिंह का विवाह कर दिया गया। श्रीमती गायत्री देवी जालन्धर कन्या विद्यालय की मैट्रिक पास अत्यन्त मृदुभाषी, सुशील और चतुर महिला है। वह चौ० चरणसिंह के गांव में रहकर परिवार का कृषि आदि का प्रत्येक कार्य देखती रही। पढ़े लिखेपन का बनावटीपन उनमें लेशमात्र भी नहीं है। ग्रामीण किसानों की हर समस्या को सुनना और उनके उचित निराकरण का प्रयास करना उनके स्वभाव में निहित है। जब देश के कोने-कोने से आये दल के कार्यकर्त्ता चौधरी साहब से मुलाकात नहीं कर पाते या किसी कारण निराश होकर जाते तो मात्र माताजी गायत्री देवी ही उनकी आशा का केन्द्र होती थी। वह अब तक भी कार्यकर्त्ताओं के बीच घिरी देखी जा सकती हैं। वह अनेकों की समस्याओं को सुलझाती हैं और अनेकों को धैर्य व साहस का पाठ पढ़ाती हैं।

माताजी अपने जीवन में दो बार विधान सभा की सदस्या क्रमशः ईंगलास (जिला अलीगढ़) और गोकुल (जिला मथुरा) से चुनी गयीं। फिर कैराना (मुजफ्फरनगर) से लोकसभा की सदस्या चुनी गई।

श्रीमती गायत्री देवी ने चौधरी चरणसिंह को ऊंचे पद तक पहुंचाने में अपना आवश्यक योगदान दिया। जीवन के साथी होने के नाते वह अपने पति को प्रामाणिक आवश्यकता पड़ने पर सूचित करती थीं। दो अवसरों पर गायत्री देवी ने चौधरी साहब पर उचित समय पर, उचित निर्णय लेने के लिए, अपना प्रभाव डाला। पहला, जब सन् 1965 में चौ० साहब ने कांग्रेस पार्टी से त्यागपत्र दिया। दूसरे, जब वे देसाई सरकार में वरिष्ठ उपप्रधानमन्त्री एवं आर्थिक (Finance) मन्त्री थे, देसाई सरकार से त्यागपत्र दिया। गायत्री देवी केवल चौधरी साहब की भक्तिपूर्वक पत्नी ही न थी बल्कि उनके प्रधानमन्त्री कार्यों में अपना बड़ा सहयोग प्रदान किया। उसने सदा अपने पति के स्वास्थ्य का ध्यान रखा।

यदि चौधरी चरणसिंह और गायत्री देवी की तुलना महाराजा सूरजमल व महारानी किशोरी से की जाए तो उचित होगा।[2]

Bio Profile at the website of Lok Sabha

http://164.100.47.194/loksabha/writereaddata/biodata_1_12/1478.htm

7th Lok Sabha
Members Bioprofile


GAYATRI DEVI, SHRIMATI [Janata (S)—Uttar Pradesh, Kairana, 1980] d. of Shri Ganga Ram; b. at Garh Kundal Village, Sonepat District, Haryana, 1905; ed. at Kanya Mahavidayalaya, Jullundur, studied upto Tenth Standard; m. Choudhary Charan Singh, June 5, 1925; 1 s. and 5 d.; Political and Social Worker; previously associated with Indian National Congress, Bharatiya Kranti Dal and Bharatiya Lok Dal; actively participated in freedom movement and was arrested in 1930; President, (i) Arya Samaj, Ghaziabad for 11 years and (ii) Uttar Pradesh Women Association; Member, Uttar Pradesh legislative Assembly, 1969 and 1974.

Favourite pastime and recreation: Meeting people and discussing their personal, social and other problems.

Special interests: Improvement in the status of rural women.

Sports and clubs: Indoor games.

Travels abroad: U.S.A.

Permanent address: 56-2, Shivaji Road, Meerut, Uttar Pradesh.

External Links

References

  1. Dndeswal (talk) 21:31, 28 April 2016 (EDT)
  2. Jat History Dalip Singh Ahlawat/Chapter X (Page 942)

Back to The Leaders